Success Mantra : 20 मोटिवेशनल शायरी जो आपकी जिन्दगी बदल देंगी ! By SPSINGH

Success Mantra : 20 मोटिवेशनल शायरी जो आपकी जिन्दगी बदल देंगी ! By SPSINGH   Thanks for watching and please click for Subscribe https://goo.gl/S4dbqw Latest Video By SPL LIVE LEARNING …

Read More

सामुद्रिक पर्यावरण का महत्व

सामुद्रिक पर्यावरण का महत्व सामुद्रिक पर्यावरण का महत्व जानने के पहले हमें सामुद्रिक पर्यावरण का अर्थ जानना होगा। क्योंकि जिस तरह से हमारी पृथ्वी अपने खुद के पर्यावरण से फलती …

Read More

जानिये कलयुग कितना बीत चुका हैं

जानिये कलयुग कितना बीत चुका हैं जानिये कलयुग  कितना बीत चुका है –  ये तो बहुत से विद्वान बता सकते है लेकिन कितना रह गया है ये अभी तक सही …

Read More

विश्व को भारत की देन(India’s donation to the world)

 विश्व को भारत की देन(India’s donation to the world) http://collegestar.in/?p=8122  विश्व को भारत की देन(India’s donation to the world) विश्व को भारत की देन| भारत का अर्थ ही है ज्ञान …

Read More

माँ और पत्नी भाग – 1 Maa aur Patni Part – 1

माँ और पत्नी भाग – 1 Maa aur Patni Part – 1 माँ और पत्नी, दोस्तों, चाहे स्त्री हो या पुरुष सभी को जन्म एक माँ ही देती है । परन्तु …

Read More

राजा का स्वभाव प्रजा जैसा हो कैसे ?

राजा का स्वभाव प्रजा जैसा हो कैसे ?                         राजा हर्षवर्धन राजा का स्वभाव प्रजा जैसा हो कैसे ? राजा–प्राचीन …

Read More

चाणक्य नीति – सत्रहवां अध्याय Chanakya Neeti In Hindi -Seventeenth Chapter

चाणक्य नीति – सत्रहवां अध्याय ( Chanakya Neeti In Hindi -Seventeenth Chapter ) 1. वह विद्वान जिसने असंख्य किताबो का अध्ययन बिना सदगुरु के आशीर्वाद से कर लिया वह विद्वानों …

Read More

चाणक्य नीति – सोलहवां अध्याय Chanakya Neeti In Hindi – Sixteenth Chapter

चाणक्य नीति – सोलहवां अध्याय ( Chanakya Neeti In Hindi – Sixteenth Chapter ) 1. स्त्री (यहाँ लम्पट स्त्री या पुरुष अभिप्रेत है) का ह्रदय पूर्ण नहीं है वह बटा …

Read More

चाणक्य नीति – पन्द्रहवां अध्याय Chanakya Neeti In Hindi -Fifteenth Chapter

चाणक्य नीति – पन्द्रहवां अध्याय ( Chanakya Neeti In Hindi -Fifteenth Chapter ) 1. वह व्यक्ति जिसका ह्रदय हर प्राणी मात्र के प्रति करुणा से पिघलता है. उसे जरुरत क्या …

Read More