बाबा सहाब डॉ भीमराव अम्‍बेडकर का गूगल ने किया अपमान

  बाबा सहाब डॉ भीमराव अम्‍बेडकर का गूगल ने  किया अपमान

बाबा  सहाब डॉ  भीमराव अम्‍बेडकर  का  गूगल ने नही बनाया डूडल  वैसे तो गूगल सभी का डूडल बनाता है लेकिन आज बाबा सहाब की जयन्‍ती पर गूगल ने डूडल  नही बनाया हैं।   जिसने सविधान को बनाया आज उसी के साथ  इस तरह का वैबाहर किया जा रहा हैं। इस देश के लिये और दलतो के लिये बाबा सहाब ने क्‍या नही किया है। आप उनके लिये इस पोस्‍ट को शेयर नही कर सकते हैं इसलिये इस  लिये इस पोस्‍ट को  इतना शेयर करो कि गूगल को भी पता चले कि बाबा सहाब को इस हिन्‍दुसतान में कितना मानते हैं।

डॉ भीमराव अम्‍बेडकर का जीवन  परिचय

भीमराव अम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 को मध्य प्रदेश के एक छोटे से गांव महू छाबनी में हुआ था।  डॉ भीमराव अम्बेडकर के पिता का नाम रामजी मालोजी सकपाल और माता का भीमाबाई मुरबादकर  था। अपने माता-पिता की चौदहवीं संतान के रूप में जन्में डॉ. भीमराव अम्बेडकर जन्मजात प्रतिभा संपन्न थे। इनकी जब उम्र 5 वर्ष की थी तभी इनकी माताजी का देहान्‍त हो गया था।

डॉ भीमराव अम्बेडकर का जन्म महार जाति में हुआ था जिसे लोग अछूत और निचला वर्ग मानते थे।

बचपन में भीमराव अम्बेडकर के परिवार के साथ सामाजिक और आर्थिक रूप से गहरा भेदभाव किया जाता था।

इनके बचपन का नाम रामजी सकपाल था।

अम्बेडकर के पूर्वज लंबे समय तक ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना में कार्य करते थे।

बाबा सहाब के पिता हमेशा ही अपने बच्चों की शिक्षा पर जोर देते थे।

1894 में भीमराव अम्बेडकर जी के पिता सेवानिवृत्त हो  गए थे।

बच्चों की देखभाल उनकी चाची ने कठिन परिस्थितियों में रहते हुये की।

रामजी सकपाल के केवल तीन बेटे, बलराम,आनंदराव और भीमराव और दो बेटियाँ मंजुला और तुलासा ही इन कठिन हालातों मे जीवित बच पाए। अपने भाइयों और बहनों मे केवल अम्बेडकर ही स्कूल की परीक्षा में सफल हुए।

शिक्षा

अम्बेडकर जी ने सन 1907 में मैट्रिकुलेशन पास की और उसके बाद वे बड़ौदा महाराज की आर्थिक सहायता से एलिफिन्सटन कॉलेज से 1912 में स्‍नातक किया था।

अमेरिका के कोलम्बिया विश्वविद्यालय से सन 1915 में अर्थशास्त्र से एम.ए. किया। अमेरिकी अर्थशास्त्री सेलिगमैन के मार्गदर्शन में अम्बेडकर ने कोलंबिया विश्वविद्यालय से 1917 में पी एच. डी. की । भीमराव अम्बेडकर विदेश जाकर अर्थशास्त्र डॉक्टरेट की डिग्री हासिल करने वाले पहले भारतीय थे। भीमराव अम्बेडकर जी को लगभग 9 भाषाओं को ज्ञान था।
अपने विवादास्पद विचारों, और गांधी और कांग्रेस की कटु आलोचना के बावजूद अम्बेडकर की प्रतिष्ठा एक अद्वितीय विद्वान और विधिवेत्ता की थी जिसके कारण जब, 15 अगस्त, 1947 में भारत की स्वतंत्रता के बाद, कांग्रेस के नेतृत्व वाली नई सरकार अस्तित्व में आई तो उसने अम्बेडकर को देश का पहले कानून मंत्री बनाया गया था। 29 अगस्त 1947 को अम्बेडकर को स्वतंत्र भारत के नए संविधान की रचना के लिए बनी संविधान मसौदा समिति के अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया गया।

भारतीय संविधान का निर्माण

भारतीय संविधान का मुख्य निर्माता उन्हीं को माना जाता है । 26 नवंबर, 1949 को संविधान सभा ने संविधान को अपना लिया। डॉ भीम राव अम्बेडकर जी को वर्ष 1990 में भारत के सर्वोच्‍च सम्‍मान भारत रत्‍न से सम्‍मानित किया गया था अम्बेडकर जी अकेले एसे व्‍यक्ति थे जिन्‍होने अंग्रेजों के द्वारा बुलाये गये तीनों गोलमेज सम्‍मेलन मे भाग लिया

14 अक्टूबर, 1956 को नागपुर में अम्बेडकर ने खुद और उनके समर्थकों के लिए एक औपचारिक सार्वजनिक समारोह का आयोजन किया। अम्बेडकर ने एक बौद्ध भिक्षु से पारंपरिक तरीके से तीन रत्न ग्रहण और पंचशील को अपनाते हुये बौद्ध धर्म ग्रहण किया।

6 दिसंबर 1956 को मधुमेह से पीड़ित होन के कारण अम्बेडकर जी की मृत्यु हो गई।

भारत आने के बाद अम्बेडकर जी 1926 में बम्बई की  विधान सभा के सदस्य नामित किए गए ।

अंग्रेज़ी में उनकी रचनावली ‘डॉ. बाबा साहब आम्बेडकर राइटिंग्स एंड स्पीचेज’  नाम से महाराष्ट्र सरकार द्वारा प्रकाशित की गई है।

डॉ0 अम्‍बेडकर द्वारालिखित प्रमुख किताबें

  1. हू वेर शुद्रा
  2. द बुद्धा एंड हिज धम्मा
  3. थॉट्स ऑन पाकिस्तान
  4. अनहिलेशन ऑफ कास्ट्स
  5. आइडिया ऑफ  ए नेशनद अनटचेबल
  6. फिलोस्फी ऑफ हिंदुइज्म
  7. सोशल जस्टिस एंड पॉलिटिकल सेफगार्ड ऑफ डिप्रेस्ड क्लासेज
  8. ह्वाट कांग्रेस एंड गांधी हैव डन टू द अनटचेबल
  9. बुद्धिस्ट रेवोल्यूशन एंड काउंटर-रेवोल्यूशन इन एनशिएंट इंडिया
  10. द डिक्लाइन एंड फॉल ऑफ बुद्धिइज्म इन इंडिया

अम्बेडकर के ऊपर बनी फिल्मे 

भीम गर्जना – मराठी फिल्म 1990
बालक अम्बेडकर – कन्नड फिल्म 1991
युगपुरूष डॉ. बाबासाहब अम्बेडकर – मराठी फिल्म 1993
डॉ॰ बाबासाहेब अम्बेडकर – सन 2000 में मूल अँग्रेजी से बनी फिल्म।
डॉ. बी.आर. अम्बेडकर – कन्नड फिल्म 2005
रमाबाई भीमराव अम्बेडकर – अम्बेडकर की पत्नी रमाबाई के जीवन पर आधारित मराठी फिल्म। 2010
शूद्रा: द राइझिंग – अम्बेडकर को समर्पित हिंदी फिल्म 2010
बोले इंडिया जय भीम – मराठी फिल्म, हिंदी में डब 2016

नोट-

जो भी मनुष्‍य बाबा सहाब डॉ भीमराव अम्‍बेडकर को मनता होगा और सच्‍चा दलित, सूद्र या चमार आदि समाज का होगा वह इस पोस्‍ट को कम से कम 20 लोगों के पास भेजेगा और बाबा सहाब डॉ भीमराव अम्‍बेडकर के बारे में बतायेगा कि इन्‍होने जो किया है वह और  कोई नही कर सकता है।

बैसे तो गूगल हर किसी का डूडल बनाता है

लेकिन आज 14 अप्रेल है तो गूगल ने बाबा  सहाब का डंगल नही बनाया है क्‍योकि वह महार जाति के थें। अभी भी हम लोग नही सुधरे तो कब सुधरेगें।
इस जानकारी को इतना फैला दो कि यह 24 घण्‍टें के अन्‍दर सभी के मोबाइल में होनी चाहिऐं।

जिससे गूगल के मालिक को भी पता चल जायें कि हमने भी गलती की है।

नोट – नीचे दिये गये टाइटल की  जानकारी के लिये उस टाइटल पर  क्लिक करें।

धन्‍यवाद

                                                                                                                                                                          लेखक भूपेश कुमार

4 Comments on “ बाबा सहाब डॉ भीमराव अम्‍बेडकर का गूगल ने किया अपमान”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *