अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस International Labour Day

अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस International Labour Day

अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस । दोस्तों, अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस, को आज दुनिया के 80 देशों में, आधिकारिक रूप से, मनाया जाता है । कुछ अन्य देशों में भी, अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस को, बगैर मान्यता प्राप्ति के ही, मनाया जाता है । अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस को, मनाने की शुरुआत कब, कहां और कैसे हुई । इसकी पूरी जानकारी, इस लेख के माध्यम से, जानने की कोशिश करेंगे ।

क्यों मनाया जाता है अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस

पुराने समय में, श्रमिकों के काम करने का समय, निर्धारित नहीं था । कोई अपने श्रमिकों से, 10 घंटे काम करवाता । तो कोई 12 घंटे, तो कोई 16 घंटे । अमेरिका में भी, काम करने की यही प्रथा चलती थी । इस से आक्रोशित होकर, अमेरिका के मजदूर यूनियनो, ने 1 मई 1886 को, अमेरिका के, शिकागो के  “हे मार्केट” में, हड़ताल कर दी । इनकी मांग थी कि, पूरे देश में मजदूरों को, 1 दिन में 8 घंटे का काम दिया जाए ।

हड़ताल के दौरान भीड़ में, एक बम धमाका हो गया । ये धमाका किसने किया, इसका पता नहीं चल सका । और वहां तैनात, पुलिस वालों ने, हड़ताल किए हुए कर्मचारियों के ऊपर, गोलियां चलानी शुरू कर दी । इसमें 7 मजदूर मारे गए । इन्हीं मजदूरों की याद में, 1 मई को अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस,  के रुप में मनाया जाता है ।

कब मिली मान्यता

शुरुआत में शिकागो के, हे मार्केट में मजदूरों की हुई हत्या, से अमेरिका पर कोई बड़ा,  प्रभाव नहीं पड़ा । किंतु कुछ समय पश्चात, अमेरिका में श्रमिकों को, 8 घंटे काम करने का समय, निर्धारित किया गया । सन 1889 में, अंतर्राष्ट्रीय समाजवादी सम्मेलन में, यह ऐलान किया गया, कि 1 मई को अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस, के रुप में मनाया जाए । इसी से आज दुनिया के, लगभग 80 देशों में इसे, अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस के रुप में, मनाया जाता है ।

भारत में इसकी शुरुआत

भारत में अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस, को मनाने की शुरुआत, चेन्नई में हुई । 1 मई 1923 को, भारतीय मजदूर किसान पार्टी के नेता, कामरेड सिंगरावेल चेट्यार, ने मजदूरों को अपने साथ, लेकर मद्रास हाईकोर्ट के सामने, बड़ा प्रदर्शन किया । इस प्रदर्शन में यह सहमति, बनाई गई कि, इसे भारत में भी, कामगार दिवस के रुप में, मनाया जाए । शुरुआती समय में, अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस को, मद्रास दिवस के रुप में, मनाया जाता था । उस समय चेन्नई का नाम मद्रास था ।

अन्य नाम

अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस को, कई अन्य नामों से भी जाना जाता है । इसे may day, Labour Day, मई दिवस, मजदूर दिवस, कामगार दिवस इत्यादि, अन्य नामों से भी जाना जाता है । इस दिन सभी श्रमिकों को, अवकाश दिया जाता है ।

दोस्तों, यह जानकारी आपको कैसी लगी, अगर अच्छी लगी हो तो, इसे लाइक और शेयर करें ।

धन्यवाद ।

इसे भी पढ़ें 👍👇

राम प्रसाद बिस्मिल

About Bharti

Sapano ka sansar hai ab to bas chahane walon ka intajar hai.

View all posts by Bharti →

2 Comments on “अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस International Labour Day”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *