दुनिया का सबसे बड़ा परिवार भारत में है

दुनिया का सबसे बड़ा    परिवार भारत में है

जी हां दोस्तों, आज विश्व परि दिवस के अवसर पर मुझे आपको यह बताते हुए,

अपार हर्ष हो रहा है कि आज भी भारत में दुनिया का सबसे बड़ा परिवार रहता है।

भले ही पूरी दुनिया में परिवार के नाम पर केवल पति पत्नी और अविवाहित बच्चे आते हों, 

लेकिन भारत में आज भी यह मान्य होने के बाद भी एकमात्र मान्य नहीं है।

यहाँ आज भी बहुत कुछ ऐसा आपको मिल जाता है जो पूरी दुनिया के लिए मिसाल हो।

इसी कड़ी में भारत का यह सबसे बड़ा परिवार भी शामिल है।

आइए मिलते हैं भारत के इस परिवार से जो दुनिया का सबसे बड़ा परिवार है 

मिलिए परिवार से 

दुनिया के इस सबसे बड़ परिवार के मुखिया का नाम जियोना चाना है।

पेशे से कारपेंटर जियोना चाना के 39 पत्नियां हैं।

इनके बच्चों की संख्या 94 है, जिनकी 14 बहुएं और 33 पोते पोतियां भी हैं।

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में स्थान प्राप्त चाना का परिवार,

विश्व का सबसे बड़ा परिवार है।

इसमें कुल मिलाकर 181 सदस्य हैं।

यह मिजोरम के बक्तवांग गांव में 100 कमरों वाले एक चार मंजिला मकान में रहता है।

चाना की व्यक्तिगत बात करें तो उसकी पहली शादी 17 वर्ष में हुई थी।

लेकिन बाद में उन्होंने शादी करने में महारत सी हासिल कर ली।

चाना ने एक साल में 10 शादी तक की हैं।

सबसे आश्चर्य जनक तथ्य यह है कि कि इसके बाद भी,

चाना का वृहत्तर परिवार दुनिया के लिए मिसाल है।

 क्योंकि परिवार आपसी प्यार और सम्मान के साथ मिलकर रहता है।

श्री मान चाना अभी केवल 72 साल के हैं, आगे आप खुद समझ सकते हैं। 

पारिवारिक शासन 

बात अगर चाना के पारिवारिक अनुशासन की करें

तो यहां पर सेना का अनुशासन बेहद आदर्श माना जाता है।

वास्तविक सेना अध्यक्ष की बात करें तो परिवार में सत्ता संभालने का काम,

चाना की पटरानी अर्थात पहली पत्नी जाथिआंगी करती है।

परिवार के प्रत्येक व्यक्ति को दैनिक कार्यों का बंटवारा पटरानी जी ही करती हैं।

चाना जी को इस बात का बेहद गर्व है कि उनका परिवार दुनिया का सबसे बड़ा परिवार है।

दुनिया के इस सबसे बड़े परिवार के प्रति दिन के भोजन की बात करें,

तो परिवार के सिर्फ एक दिन के खाने में 30 साबुत चिकन,

दर्जनों अंडों के साथ 60 किलोग्राम आलू, 100 किलोग्राम चावल लगता है।

इतना ही नहीं इस परिवार में प्रति दिन 20 किलोग्राम फल भी लगते हैं। 

भारत में बढे हैं एकल               परिवार 

चाना के परिवार  की आप केवल मिसाल ही नहीं दे सकते बल्कि इसे आप,

औपचारिक रूप से दर्ज भी कर सकते हैं कि यह भारत का सबसे बड़ा संयुक्त परिवार है।

वहीं दूसरी सच्चाई यह है कि भारत में लगातार सिर्फ एकल परिवारों की संख्या बढ़ है।

2011 की जनगणना के अनुसार भारत में 2001

से 2011 के बीच आर्थिक विकास की दर 7.4% रही है।  

इस प्रकार एक तरफ आर्थिक समृद्धि तो बढ़ी है,

लेकिन दूसरी तरफ परिवारों की एकल प्रवृत्ति भी बढ़ है।

2001 में भारत में 13.5 करोड़ एकल परिवार थे,

वहीं 2011 में इनकी संख्या बढ़कर 17.2 करोड़ हो गई थी।

हालांकि शहरों में आज जनसंखया के अनुसार, 

एकल परिवारों की संख्या में इजाफा नहीं हो रहा है।

इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पापुलेशन स्टडीज के अनुसार,

शहरों में मंहगे होते जीवन और पति पत्नी दोनों के

वर्किंग होने के कारण संयुक्त परिवार का  प्रचलन बढा है। 

अगर बचाना है परिवार 

जी हां दोस्तों, अगर आपको सचमुच परिवार की संयुक्त संस्था को बचाना है तो :

🔴पीढियों में सामंजस्य बढाने की कोशिश करते रहें।

🔴कोशिश करें सबकी निजता बरकरार रहे।

🔴खर्च की जिम्मेदारी सभी लें।

🔴एक दूसरे का सम्मान करें।

यकीन मानिए अगर आप, अपने  ही परिवार में

खुद अपने लिए व्यक्तिगत चालाकी नहीं करेंगे, 

तो आपका परिवार जीवन भर खुश और सुखी

रहेगा। 

धन्यवाद

KPSINGH

15052018

 

About KPSINGH

मैने बचपन से निकल कर जीवन की राहों में आने के बाद सिर्फ यही सीखा है कि "जंग जारी रहनी चाहिए जीत मिले या सीख दोनों अनमोल हैं" मैं परास्नातक समाज शास्त्र की डिग्री लेने के अलावा CTET और UP TET परीक्षाएं पास की हैं ।मैंने देश के हिन्दी राष्ट्रीय समाचार पत्रों और पत्रिकाओं में लेखन किया है जैसे प्रतियोगिता दर्पण विज्ञान प्रगति आदि ।

View all posts by KPSINGH →

One Comment on “दुनिया का सबसे बड़ा परिवार भारत में है”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *