अन्तर्राष्ट्रीय परिवार दिवस International Family Day

अन्तर्राष्ट्रीय परिवार दिवस International Family Day

अन्तर्राष्ट्रीय परिवार दिवस । दोस्तों, इंसान एक सामाजिक प्राणी है । और सदियों से ही इंसान पारिवार में बंध कर रहा है । किंतु जैसे जैसे इंसान के पास सुख-सुविधाऐं बढ़ती गई वैसे वैसे इंसान परिवार के बीच रहना छोड़ता चला गया । परिवार की मर्यादा में बंध कर रहना शायद अब के इंसानों को रास नहीं आता ।

परिवार क्या होता है

परिवार क्या होता है । यह बड़ा ही रोचक प्रश्न है ।

असल में परिवार का मतलब एक समूह होता है । और वह समूह छोटा या बड़ा हो सकता है ।

दुनिया में कुछ ऐसे भी बुद्धिजीवी लोग हैं जो पुरे विश्व को एक परिवार मानते हैं ।

यदि ब्रह्मांड के आधार पर देखा जाए तो उनका मानना गलत नहीं है ।

और कुछ बुद्धिजीवियों का यह मानना है कि एक राष्ट्र में रहने वाले तमाम व्यक्ति एक परिवार हैं ।

तो वहीं कुछ का मानना है कि जिन मानव में खून का रिश्ता हो वह एक परिवार होते हैं ।

परंतु दुनिया के ज्यादातर विद्वानों की राय में,

परिवार का मतलब एक छत के नीचे रहने वाले व्यक्तियों से होता है ।

अर्थात माता-पिता भाई-बहन दादा दादी इत्यादि एक परिवार होते हैं ।

आधुनिक परिवार

आज समूचे विश्व में जो परिवार की स्थिति है उसको देख कर ऐसा लगता है जैसे परिवार के ऊपर दी गई सारी परिभाषाएं मात्र कहने और सुनने की हो ।

आधुनिक परिवेश में पले-बढ़े लोग शायद परिवार का मतलब इतना ही मानते हैं कि परिवार के सदस्य तब तक परिवार के हिस्सा हैं जब तक वे अपने पैरों पर  नहीं खड़े हुए हो ।

आज परिवार की परिभाषा समूचे विश्व में जो भी हो । शायद यही स्थिति अमेरिका में बहुत पहले ही आ चुकी थी ।

तब वहां के बुद्धिजीवियों ने लोगों को परिवार के प्रति जागरुक होने और उन्हें याद दिलाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय परिवार दिवस जैसे उत्सव को मनाने का निर्णय लिया ।

ताकि लोगों के मन में परिवार के प्रति जागरूकता बढ़े ।

भारत में परिवार की स्थिति

हालांकि भारत में लंबे-लंबे परिवार में रहना यहां की संस्कृति में शामिल है ।

तभी तो पूरे विश्व में भारतीय परिवारों के उदाहरण दिए जाते हैं ।

किंतु जहां एक तरफ पूरा विश्व परिवार को एकजुट करने में लगा है ।

वही भारत जैसे देश में पश्चिमी सभ्यता का असर भलीभांति देखा जा सकता है ।

जहां समूचा विश्व  अपनी गलतियों  को सुधारना चाहता है वही भारत जैसे देश  के लोग उन्हीं रास्तों पर चलने की कोशिश कर रहे हैं ।

परिवार दिवस का उद्देश्य

अतर्राष्ट्रीय परिवार दिवस मनाने का उद्देश्य ऐसे मुद्दों पर जागरूकता बढ़ाना है जिनका संबंध परिवार से होता है ।

अर्थात अपने परिवार के प्रति हर मुद्दे पर संवेदनशीलता को बढ़ावा देना ही इस दिवस का प्रमुख उद्देश्य है ।

शुरुआत

उल्लेखनीय है वर्ष 1993 में संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रस्ताव संख्या A/RES/47/237 के द्वारा प्रतिवर्ष 15 मई को ‘अंतर्राष्ट्रीय परिवार दिवस’ मानने की शुरुआत हुई ।

किंतु आधिकारिक रूप से इसे 1994 से मनाना शुरू किया गया ।
इसका एक सिंबल है जिसमे हरे रंग के गोले में लाल रंग से घर और हृदय को दर्शाया गया है ।
दोस्तों, यदि ये जानकारी अच्छी लगी हो तो, इसे लाइक और शेयर जरूर करें ।
धन्यवाद ।
इसे भी पढ़ें 👍👇

About Bharti

Sapano ka sansar hai ab to bas chahane walon ka intajar hai.

View all posts by Bharti →

6 Comments on “अन्तर्राष्ट्रीय परिवार दिवस International Family Day”

  1. आपने अपने विचार दिल से उतारकर कागज हृदयपटल पर रख दिया ,जिसे पढ़कर सभी आनंदित हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *