सिक्किम प्रदेश,जिसका है आज स्थापना दिवस।

सिक्किम प्रदेश, जिसका है आज स्थापना दिवस।

 

सिक्किम :- जी हाँ दोस्तो आज सिक्किम का स्थापना दिवस है,जो प्रतिवर्ष 16 मई को मनाया जाता है। सिक्किम भारत के
पर्वतीय राज्योंं में से एक है। क्षेत्रफल के मामले मेें गोवा के बाद इसका स्थान आता है। आजादी के पूर्व यह एक स्वतंत्र राज्य
था और नामग्याल राजतंत्र द्वारा इस पर शासन किया जाता था। सन् 1975 में जनमत संंग्रह हुआऔर इस आधार पर यह
भारत में विलीन कर लिया गया। इस प्रकार राजतंत्रीय शासन का अंत हुुआ और प्रजातान्त्रीय शासन का प्रारंभ हुुुआ। तभी
 से प्रतिवर्ष 16 मई को सिक्किम स्थापना दिवस मनाने का निर्णय लिया गया है। तो दोस्तो इस प्रदेेेश के बारे में और
विस्तारपूर्वक जानने की कोशिश करते हैं।

 

सिक्किम प्रदेश से जुडेे़े महत्वपूूू्र्ण तथ्य :-

(1) इसकी स्थापना 16 मई 1975 को हुई।
(2) इसकी राजधानी गंगटोक है।
(3)  इसकी जनसंख्या 5,40,493 से ऊपर है।
(4)  इसका जनसंख्या घनत्व 76 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी है।
(5)  यह प्रदेश 7086 वर्ग किमी में फैला है।

 

(6)  यहाँँ की जलवायु उष्ण कटिबन्धीय व शीतोष्ण प्रकार की है।
(7)  यह 4 जिलों मेंं विभाजित है।
(8)  यहाँँ का सबसे बडा़ नगर गंगटोक हैै।
(9) 1000 : 875 यहाँँ का लिंग अनुपात है।
(10) यहाँँ पर हिन्दी, अंंग्रेजी, भूूूटिया, लिंबू, लेप्चा व नेपाली भाषाएँ बोली जाती हैैं,जिसमेंं  हिन्दी को आधिकारिक रूप मेें और
       अंग्रेजी को शासकीय रूप मेंं मान्यता प्राप्त है।
(11) अंगूठे के आकार का यह प्रदेश दक्षिण पूर्व में भूटान,पश्चिम में नेपाल व उत्तर पूर्व में तिब्बत व चीन से घिरा है।
(12) यहाँँ की कुुुल साक्षरता 69.68 % है, जिसमें स्त्री साक्षरता 61.46% और पुरुष   साक्षरता 76.73%  है।
(13) यहाँँ का औसत तापमान 18 डिग्री सेल्सियस रहता है।
(14) इस प्रदेश के प्रमुख धर्म हिन्दूू व वज्रयान बौद्ध धर्म हैं।
(15) सन् 1642 मेें नामग्याल राजवंश द्वारा स्थापित इस राज्य पर अनेक शासकों ने शासन किया। अंग्रेजी हूकूमत आने
         के बाद अंग्रेजों नेे शासन किया। अन्तत: जनमत संग्रह के बाद यह प्रजातांत्रिक राज्य बना।

(16) कंचनजंगा,जो कि विश्व की तीसरी सबसे ऊँची चोटी है,यहीं पर स्थित हैै।
(17) यह भारत के प्रमुख पर्यटक स्थलों के रूप में विकसित किया जा रहा है।
(18) नाथुुला दर्रा जो कि एक प्रसिद्ध दर्रा है, इसकी डोगिक्या श्रेणी में स्थित है।
(19) यहाँँ वनस्पतियों की लगभग 5000 प्रजातियाँँ देखने को मिलती हैं।
(20) तिब्बती मास्टिफ ,नीली भेड़,लाल पाँडा , याल इत्यादि जानवर यहीं पाये जाते हैं।
(21) यहाँँ की मुुुख्य नदी तीस्ता नदी है,जो इस देश की जीवन रेेेेखा कहकर पुकारी जाती है।
(22) यह कृषि प्रधान देेेश है।  लगभग 64% जनसंख्या अपने जीवन यापन के लिए कृषि पर ही निर्भर रहती है।
(23) इस प्रदेश की कृषि योग्य भूमि लगभग 1,09,000 हैैैक्टेयर है,जो पूूरे क्षेत्रफल का 15.36% है।
(24) यहाँँ  की प्रमुख फसलें – गेहूँ, चावल, मक्का,आलू,अदरक,इलायची इत्यादि हैं।
(25) सबसेे ज्यादा इलायची का उत्पादन इसी प्रदेश मेें होता है।

 

(26) औद्योगिक रूप से यह एक पिछडा़ राज्य है,लेकिन यहाँ पर कुछ कुटीर उद्योग संचालित हैं जैैैसे :- गलीचे, धागे,
          बााँस,लकडी़ इत्यादि कार्य होता है।
(27) यहाँँ पर हिन्दू व बौद्ध धर्म को मानने वाले लोग सर्वाधिक हैं,इसलिए इन्हीं से जुडे़ त्योहार यहाँ मनाए जाते हैंं जैैैसे :-
          दीपावली, होली,दशहरा,रामनवमी,सांंगा,दाबा,लूसोंग, ल्होसार ड्रपका देेशी,ल्हाबाव ड्यूूचेेेन,भूयच इत्यादि।
(28) पर्यटक स्थल के रूप में विकसित करने हेतु सरकार हिमालयन सेंटर फॉर एडवेेंचर टूरिज्म की स्थापना करने  के लिए
         विचार कर रही है।
तो दोस्तो यदि यह जानकारी आपको पसंद आई हो,तो लाइक,कमेंंट व शेयर करना न भूलें।
                                                                                                                                                                 धन्यवाद

6 Comments on “सिक्किम प्रदेश,जिसका है आज स्थापना दिवस।”

  1. भारत एक गौरवशाली राष्ट्र है जिसकी महिमा को जानने में वर्षों लग जायेंगे |एक राज्य के बारे में आपने अच्छी जानकारी दी है |

    1. प्रोत्साहन के लिए प्रमोद सर आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *