विश्व दूरसंचार दिवस World Tele Communications Day

विश्व दूरसंचार दिवस World Tele Communications Day

विश्व दूरसंचार दिवस । दोस्तों, प्रत्येक वर्ष 17 मई विश्व दूरसंचार दिवस के रुप में मनाया जाता है । आज के समय में फोन, मोबाइल और इंटरनेट लोगों की प्रथम आवश्यकता बन चुके हैं ।

मोबाइल कंप्यूटर और इंटरनेट पर तो पूरा मानव जीवन ही निर्भर हो चुका है ।

इसके बिना जीवन की कल्पना करना बहुत ही मुश्किल हो चुका है ।

आज यह दूर संचार के संसाधन इंसान के व्यक्तिगत जीवन से लेकर व्यावसायिक जीवन में पूरी तक प्रवेश कर चुके हैं ।

इसके पहले जहाँ किसी से संपर्क साधने के लिए लोगों को काफ़ी मशक्कत और दिक्कतों का सामना करना पड़ता था,

वहीं आज मोबाइल और इंटरनेट ने इसे बहुत ही आसान बना दिया है ।

कोई भी व्यक्ति कुछ ही सेकेंड में बेहद ही असानी से अपने दोस्तों, परिवारी जनों और सगे सम्बंधियों से संपर्क कर सकता है ।

यह दूरसंचार की क्रांति है । जिसकी बदौलत भारत जैसे विकासशील देश की गिनती भी विश्व के कुछ ऐसे देशों में होती है,

जिनकी अर्थव्यवस्था तेज़ी से रफ्तार पकड़ रही है ।

कब और कैसे हुई शुरुआत

 17 मई सन 1865 ईसवी को अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार संघ की स्थापना की गई ।

इसके 108 साल बाद अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार संघ की स्थापना की स्मृति में,

मैलेगा टोररीमोलिनोंस में एक सम्मेलन के दौरान यह घोषणा की गई कि ,

17 मई को विश्व दूरसंचार दिवस के रुप में मनाया जाए ।

तब से 17 मई को दूरसंचार दिवस के रुप में मनाया जाता है ।

कुछ लोगों का मानना है कि विश्व दूरसंचार दिवस 17 मई सन 1865 से मनाया जाता है ।

किंतु असल में 17 मई सन 1865 को अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार संघ की स्थापना की गई थी ।

इसी की स्मृति में 17 मई को दूरसंचार दिवस मनाया जाता है ।

जिसकी आधिकारिक घोषणा सन 1973 में की गई ।

और विश्व दूरसंचार दिवस को मनाने की शुरुआत 1973 से ही मानी जाती है ।

इसके साथ सन् 2006 के नवम्बर माह में टर्की में आयोजित,

पूर्णाधिकार कांफ्रेंस में यह भी निर्णय लिया गया था ।

कि ‘विश्व दूरसंचार’ एवं ‘सूचना’ और ‘सोसाइटी दिवस’, तीनों को एक साथ मनाया जाए ।

किन्तू किन्ही कारणों से ऐसा नहीं हो सका ।

इंटरनेट और दूरसंचार का महत्व

वर्तमान समय में दूरसंचार का एक सबसे बड़ा हिस्सा इंटरनेट है ।

इसमें कोई दो राय नहीं है कि जिन लोगों की पहुंच इंटरनेट तक है,

उनके जीवन में एक बड़ा बदलाव देखने को मिला है ।

इंटरनेट से उनका जीवन  काफ़ी सरल बन चुका है ।

इसके माध्यम से हम अनगिनत सूचनाओं को पलक झपकते ही मात्र कुछ  सेकेंड में ही भेंज या प्राप्त कर लेते हैं ।

इंटरनेट सिर्फ सूचनाओं के लिहाज से ही नहीं, बल्कि सोशल नेटवर्किग से लेकर

बैंकिंग, ई-शॉपिंग, मार्केटिंग इत्यादि के लिए अब अहम हिस्सा बन चुका है ।

दूरसंचार के उपयोग से जनजीवन काफी सरल बन चुका है ।

पहले के समय में जिन बातों को कहने सुनने के लिए लोगों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर आना जाना पड़ता था ।

आज दूर संचार के माध्यम से बैठे बैठे एक दूसरे से वार्तालाप किया जा सकता है ।

आज का मानव जीवन दूरसंचार का इतना आदी हो चुका है,

कि यदि 1 दिन के लिए भी यह सेवाएं बंद कर दी जाए तो,

वहां की समूची अर्थव्यवस्था पर इसका सीधा प्रभाव देखने को मिलेगा ।

 

दोस्तों, यदि यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो, इसे लाइक और शेयर जरूर करें ।

धन्यवाद ।

इसे भी पढ़ें 👍👇

17 मई को प्रमुख व्यक्तियों का जन्म, निधन और प्रमुख दिवस

About Bharti

Sapano ka sansar hai ab to bas chahane walon ka intajar hai.

View all posts by Bharti →

One Comment on “विश्व दूरसंचार दिवस World Tele Communications Day”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *