नूतन(Nootan),भारत की सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्रियों में से एक।

नूतन(Nootan),भारत की सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्रियों में से एक।

 

 

नूतन:- नूतन भारत की सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्रियों मेें से एक थीं। जी हाँँ दोस्तो आज हम नूतन के बारे में बात करेंगे। येे प्राकृृतिक
सौंदर्य की धनी थीं और इसी कारण ये मिस इंडिया का पुुुरस्कार पाने वालीं प्रथम महिला बनीं। 50 से अधिक फिल्मों में काम
करनेे वाली इस अभिनेत्री को 6 बार(सबसे अधिक) फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इनका अभिनय इतना
प्रभावशाली रहा कि आज भी येे अनेक अभिनेत्रियों के लिए मिसाल बनी हुई हैं। तो दोस्तो चलिए इनके बारे मेें और जानकारी
हासिल करने की कोशिश करते हैं।

 

 

प्रारंभिक जीवन :-

(1) इनका जन्म 4 जून 1936 को मुुंबई (बॉम्बे प्रेसीडेंसी),भारत में हुुुआ था।
(2) इनका पूरा नाम नूतन समर्थ बहल था।
(3) ये मराठी परिवार से ताल्लुक रखती थीं।
(4) इनके पिता का नाम कुुमारसेन समर्थ ,जो कि एक कवि व निर्देशक थे।
(5) इनकी माँ का नाम शोभना समर्थ,जो कि एक निर्देशक थीं।

 

 

(6) इनके तीन भाई रमेश,चतुरा,जयदीप व एक छोटी बहिन तनुजा थीं।
(7) ये अपने माता-पिता की सबसे बड़ी संंतान थींं।
(8) काजोल,जो कि इनकी छोटी बहिन तनुजा की बेटी हैं, प्रसिद्ध अभिनेत्रियों में गिनी जाती हैं।
(9) नूतन का विवाह ,11 अक्टूबर सन् 1951 को लैफ्टीनेंट कमान्डर रजनीश बहल के साथ हुआ।
(10) इनके पुत्र का नाम मोहनीश बहल,जो कि कई फिल्मों मेें अभिनय कर चुके हैं।

 

 

इनसे जुड़े और महत्वपूर्ण तथ्य :-

(1) इन्होंने अपने फिल्मी कैरियर की शुुरूआत सन् 1950 में बनी फिल्म “हमारी बेटी” से की।
(2) इस फिल्म को इनकी माँ शोभना समर्थ नेे निर्देशित किया था।
(3) सन् 1955 में नूूूतन नेे फिल्म ” सीमा” मेंं अभिनय किया। इस फिल्म मेें इनके अभिनय को सराहा गया और पहली बार
       इन्हें इस फिल्म के लिए पहला फिल्म फेयर अवार्ड मिला।
(4) सन् 1957 में इनके द्वारा प्रदर्शित फिल्मेें रहीं, “दिल्ली का ठग” व “पेइंग गैस्ट”। फिल्म पेइंग गैस्ट में येे बिकनी पहने
        नजर आईं।
(5) अपने बेटे मोहनीश बहल के जन्म के बाद इन्हें कुछ दिनों के लिए फिल्मों से नाता तोड़ना पड़ा।

 

 

(6) सन् 1963 में फिर वे फिल्म “तेेरे घर के सामने ” व “बंदिनी” मेेें नजर आईं।
(7) 1970 के दशक में इन्होंने कुछ हिट फिल्में भी दीं,जिसमें प्रमुख हैं “मिलन”, “सरस्वती चन्द्र”, “दिल ने फिर याद किया”,
      “रिश्ते नाते”, “साजन बिना सुहागन”,कस्तूरी” इत्यादि।
(8) 90 के दशक में कुछ और हिट फिल्मोंं में नूतन ने काम किया,जैसे :- मेरी जंग,कर्मा इत्यादि। इन फिल्मों में इनका साइड
       रोल रहा।
(9) 21 फरवरी सन् 1990 को स्तन कैैंसर के कारण इनका निधन हो गया।
(10) नूतन अपने प्रतिभाशाली अभिनय व प्राकृृृतिक सौंंदर्य के कारण हमेशा याद रखी जाएँगी।

 

 

फिल्म फेयर पुरस्कार :-

 इन्हें 6 बार फिल्म फेयर पुरस्कार निम्न फिल्मों केे लिए दिया गया-
(a) सीमा(1956)
(b) सुजाता(1959)
(c) बंदिनी(1963)
(d) मिलन(1967)
(e) मैं तुलसी तेरे आँगन की(1978)
(f) मेरी जंग(1985)

 

 

कुछ प्रमुख फिल्में :-

(a) हमारी बेटी(1950)
(b) नगीना(1951)
(c) निर्मोही(1951)
(d) हंगामा(1952)
(e) लैला मजनू(1953)
(f) शबाब(1954)

 

(g) सीमा(1955)
(h) हीर(1956)
(I) सोने की चिड़िया(1958)
(j) दुल्हन एक रात की(1966)
(k) भाई बहिन(1969)
(l) अनुराग(1972)
(m) साजन बिना सुहागन(1978)
(n) आर-पार(1985)
(o) नाम (1986)
(p) इंसानियत(1994)
तो दोस्तो यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो,तो लाइक,कमेंट व शेयर करना न भू्लेेें।
                                                                                                                                                                   धन्यवाद

8 Comments on “नूतन(Nootan),भारत की सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्रियों में से एक।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *