सुनील दत्त,बॉलीवुड के महान अभिनेताओं में से एक।

सुनील दत्त,बॉलीवुड के महान अभिनेताओं में से एक।

 

 

सुनील दत्त :- सुुनील दत्त,बॉलीवुड के महान अभिनेताओं में से एक,जी हाँ दोस्तो आज हम सुुुनील दत्त केे बारे में बात
करेेंगे,जिनको बॉलीवुुुड अभिनेेेता,निर्माता व निर्देशक के रूप मेें बहुत ख्याति मिली। इतना ही नहीं, इनका राजनीतिक
कैरियर भी काफी सफल रहा। सन् 2004 से 2005 मेें प्रधानमंत्री मनमोहन सिंंह  की सरकार मेें खेल व युवा मामलों के
केेेबिनेट मंंत्री रहने वाले सुनील दत्त भारत सरकार द्वारा कई पुरस्कारों से सम्मानित किए गए। तो  दोस्तो दादा साहेब
फाल्केे पुरस्कार पाने वाले इन महान व्यक्तित्व केे बारे में और जानकारी हासिल करने की कोशिश करतेे हैैं।

 

 

प्रारंभिक जीवन :-

(1) इनका जन्म 6 जून सन् 1929 को गाँव खुर्दी जिला झेलम(पंजाब) में हुुआ था,जो कि अब यह स्थान पाकिस्तान में आता
       है।
(2) इनका वास्तविक नाम बलराज दत्त था।
(3) इन्होंने अपनी शिक्षा जय हिंंद कालेेेज, मुंबई से ग्रहण की, क्योंंकि बँँटवारे के बाद इनका परिवार मुंबई मेंं आकर बस गया
      था।

 

(4) अपनी आजीविका चलाने हेतु इन्हेें कंंडक्टर की नौकरी भी करनी पड़ी।
(5)इनकी पत्नी का नाम नर्गिस दत्त,इनके पुत्र का नाम संंजय दत्त व इनकी दो पुुत्रियाँ प्रिया दत्त और नम्रता दत्त हैं।

 

 

इनसे सम्बन्धित और महत्वपूर्ण तथ्य :-

(1) सुनील दत्त ने अपने कैरियर की शुुरूआत साउथ एशिया के सबसे पुराने रेडियो स्टेशन सीलोन पर एक उद्घोषक के रूप
       में की। इससे इन्हें काफी लोकप्रियता हासिल हुुुई।
(2) इसके बाद सुनील दत्त ने फिल्म क्षेत्र में अभिनय करने का निर्णय लिया और मुुंबई आकर इस कार्य में जुट गए।
(3) इनकी सबसे पहली फिल्म रही,सन् 1955 में बनी फिल्म”रेेेलवे स्टेेेशन”।
(4) इन्हें बॉलीवुड का स्टार बनाने वाली फिल्म रही,सन् 1957 में बनी फिल्म “मदर इंडिया”।

 

 

(5) सन् 1964 में इनकी आने वाली फिल्म रही “मुझे जीने दो”। यह फिल्म इतनी सुुपर हिट रही कि इसनेे सुनील दत्त को
       फिल्म फेयर का सर्वश्रेेेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार दिला दिया।
(6) फिल्म “खानदान” जो कि इस फिल्म के ठीक दो वर्ष बाद रिलीज हुई,पुन: इनको फिल्म फेयर का सर्वश्रेेेष्ठ अभिनेेता का
       पुुुरस्कार दिला गई।
(7) सन् 1957 में बनी फिल्म “मदर इंडिया” मेें एक दिन शूटिंंग के दौरान सैट पर आग लग गई। नर्गिस दत्त को चारों तरफ
       आग से घिरा देख उन्हेंं बचाने के चक्कर मेें खुद झुुुलस गए।
(8) यह  घटना नर्गिस को प्रभावित कर गई और इन्होंने अपनी माँ को राजी कर 11 मार्च सन् 1958 को सुनील दत्त से
      विवाह रचा लिया।

 

 

(9) 60 के दशक मेें इनकी एक से एक बेेहतरीन फिल्में आईं,जिनमें प्रमुख हैं – गुुुमराह,सुजाता,मुझे जीनेे दो, पड़ोसन,
       हमराज,खानदान इत्यादि।
(10) पहली बार इन्हेंं उत्तर पश्चिमी लोकसभा सीट से सन् 1984 में कांग्रेस पार्टी से टिकिट मिला और सांसद बने और
         लगातार पाँच बार यहाँ से साँसद चुने जाते रहे।
(11) इनकी मृृृत्यु के बाद इनकी पुुत्री प्रिया दत्त यहीं से चुनाव जीतकर साँसद बनीं।
(12) अभिनेता,निर्माता,निर्देशक व राजनेता रहने वाले सुनील दत्त मुंबई से शेेरिफ भी रहे।

 

 

(13)सुनील दत्त ने “अजन्ता आर्ट्स कल्चरल ग्रुप” नामक सांस्कृतिक संस्था का गठन किया और इसी माध्यम से फिल्म
         निर्माण,राष्ट्रीय व लोक हित कार्यों से जुुड़े रहे।
(14) इनकी पत्नी नर्गिस की सन् 1981 मेंं लिवर कैंसर से मृत्यु होने के बाद इनकी स्मृति में इन्होंंनेे” नर्गिस दत्त
          मेेेमोरियल कैंंसर फाउंंडेशन” की स्थापना कर दी।
(15) नर्गिस दत्त की स्मृति मेें प्रतिवर्ष नर्गिस अवार्ड भी प्रदान किया जाता हैै।
(16) मुंंबई मेेंं पाली हिल बांद्रा स्थित इनके निवास पर 25 मई सन् 2005 मेें हर्ट अटैक के कारण इनका निधन हो गया।
(17) फिल्म,राजनीति व लोक हित कार्यों में किए गए इनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता।

 

 

प्रमुख पुरस्कार व सम्मान :-

(१) फिल्म फेेेयर सर्वश्रेेेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार- मुझे जीने दो(1964)
(२) फिल्म फेेेयर सर्वश्रेेष्ठ अभिनेता का पुुुरस्कार -खानदान(1966)
(३) पद्म श्री अवार्ड -(1968)
(४) फिल्म फेेेयर का लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड – (1995)
(५) स्टार स्क्रीन का लाइफ टाइम अचीवमेंंट अवार्ड – (1997)
(६) राजीव गाँधी राष्ट्रीय सद्भावना सम्म्मान – (1998)
(७) दादा साहेब फाल्के अवार्ड – (2005)

 

 

प्रमुख फिल्में :-

मदर इंडिया – 1953
सुजाता – 1959
हम हिन्दुस्तानी – 1960
मुझे जीने दो – 1963
ये रास्ते हैैं प्यार के – 1963
गुमराह -1963

 

 

खानदान – 1965
हम राज -1967
पड़ोसन – 1968
प्राण जाए पर वचन न जाए -1974
जानी दुश्मन -1979
वतन के रखवाले – 1987
मुन्नाभाई एम०बी०बी०एस० – 2003
तो दोस्तो यह जानकारी आपको पसंद आई हो तो लाइक,कमेंट व शेयर करना न भूूलें।
                                                                                                                                                                धन्यवाद

4 Comments on “सुनील दत्त,बॉलीवुड के महान अभिनेताओं में से एक।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *