श्रापित वस्तु : जिन्हें जानकर आप हैरान हो जायेंगे

श्रापित वस्तु : जिन्हें जानकर आप हैरान हो जायेंगे

श्रापित वस्तु : जिन्हें जानकर आप हैरान हो जायेंगे | दोस्तों कुछ चीजों या कोई व्यक्ति को हम अपने लिए भाग्यशाली मानते हैं और चाहते हैं कि ये वस्तुएँ सदा हमारे साथ रहे जिससे हमारा जीवन सुखमय रहे |
जब कोई वस्तु भाग्यशाली हो सकती है तो निश्चित रुप से मनहूस वस्तुएं भी होंगी जो किसी के जीवन से जुड़ जाने पर उसकी खुशियाँ छीन लेती है और बुरे वक्त का दौर शुरू हो जाता है |

इन्हीं वस्तुओं को श्रापित वस्तु कहा जाता है |
आज मैं आपके लिए दुनिया की पाँच मशहूर श्रापित वस्तु की जानकारी लेकर आया हूँ जिन्हें जानने के बाद आप हैरान हो जायेंगे |

1. Thomas Busby’s Stoop Chair –

             
1702 ई. में ब्रिटेन में थॉमस नाम का एक आदमी था |
शहर के एक बार में एक कुर्सी थी जिस पर बैठकर वह शराब पिया करता था |
इस कुर्सी पर वह किसी को बैठने नहीं देता था |
एक बार उसके Father – in -law डेनियल उसकी कुर्सी पर बैठकर उसके साथ मजाक करने लगे |
थॉमस ने गुस्से में आकर अपने श्वसुर की हत्या कर दी |
अदालत ने इस जुर्म की सजा मौत सुनाई |
फाँसी लगने से पहले थॉमस ने उसी बार में अपनी पसंदीदा कुर्सी पर बैठकर अंतिम बार भोजन करने की इच्छा जाहिर की |
भोजन करने के बाद वह खड़ा हो गया और बोला – May sudden death come to anyone who dare to sitting my chair, इसका अर्थ है – उसकी मौत तय है जो मेरी कुर्सी पर बैठने की हिम्मत करेगा |
तब से यह कुर्सी श्रापित वस्तु की लिस्ट में शामिल हों गई |
दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान 1967 में रॉयल एअरफोर्स के दो पायलट उसी बार में आये और कुर्सी पर बैठ गये |
बार से निकलने के कुछ देर बाद ही उनके ट्रक का एक्सीडेंट हो गया और दोनों पायलट मारे गये |
इस घटना के बाद जो भी इस कुर्यी पर बैठता था वह अपने घर नहीं लौट पाता था |
लगातार हो रही घटनाओं के कारण बार के मालिक ने इस कुर्सी को गोदाम में रखवा दिया |
एक बार गोदाम मैं कुछ सामान रखते हुए एक मजदूर इस कुर्सी पर बैठ गया |
गोदाम से निकलनेे के बाद उस मजदूर की एक घंटे के भीतर ही सड़क दुर्घटना में मौत हो गई |
इस कुर्सी के कारण अब तक 63 लोग मारे जा चुके थे |
इसके बाद बार के मालिक ने इस मनहूस कुर्सी को एक म्यूज़ियम में दान कर दिये |
आज भी यह कुर्सी म्यूज़ियम में 5 फीट की ऊँचाई पर रखा हुआ है ताकि कोई व्यक्ति इस कुर्सी पर न बैठ पाये |

2. ANNABELLE’S  DOLL-

एनाबेल डॉल दुनिया की सबसे श्रापित वस्तु मानी जाती है |
इस पर एक फिल्म भी बन चुकी है |
एनाबेल एक गुड़िया है जो डोना के 28वें जन्मदिन पर 1970 में उसकी माँ ने उसे गिफ्ट दिया था |
डोना उस समय ग्रैजुएशन कर रही थी और अपनी एक सहेली अनंगी के साथ एक किराये के मकान में रहती थी |
कुछ दिनों में डोना ने महसूस किया कि गुड़िया में अजीब हरकतें होती हैं |
जब डोना अपनी सहेली के साथ कॉलेज से वापस मकान में आती थी तो यह गुड़िया अपनी जगह पर नहीं मिलती थी |
कभी यह कुर्सी के पास खड़ी, तो कभी दूसरे कमरे में, कभी घर का सारा सामान बिखरा हुआ मिलता था, कभी कागज पर लिखा मिलता था -Help me.
डोना के पास एक लू नाम का लड़का आता जाता था, जिसे गुड़िया पसंद नहीं करती थी |
लू ने डोना को गुड़िया के बारे में सचेत भी किया था कि इसमें कोई बुरी आत्मा है |
एक दिन लू ने आकर बताया कि रात में गुड़िया ने उस पर जानलेवा हमला किया है |
डोना ने इसे लू का कोई बुरा सपना समझकर उसकी बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया |
एक दिन जब डोना ने स्वयं अपनी आँखों से लू पर हमला करते हुए देखा तो उसे यकीन हो गया |
इसके बाद डोना ने पैरानॉर्मल एक्सपर्ट एड और लॉरेन वारेन को बुलाया | दोनों एक्सपर्ट ने डोना, उसकी सहेली और लू की बातों को ध्यानपूर्वक सुने और लगभग सात दिनों तक उस गुड़िया पर निगरानी रखे |
इसके बाद एक्सपर्ट ने खुलासा किया कि इस गुड़िसा में एक शैतानी आत्मा का वास है जो डोना को अपने वश में करना चाहती है |
कुछ दिनों में गुड़िया अपने मकसद में कामयाब होने ही वाली थी |
वारेन इस गुड़िया को अपने साथ ले गये और काँच के एक शो केस में बंद करके अपने म्यूज़ियम में रख दिये |
यहाँ भी गुड़िया अपनी शैतानी हरकत करने से बाज नहीं आती है |
एक बार म्यूज़ियम में घूमने कुछ लोग आये, उनमें से एक गुड़िया को चिढ़ाने लगा |
म्यूज़ियम से निकलकर कुछ दूर जाने के बाद ही उसकी सड़क दुर्घटना में मौत हो जाती है |
आज भी यह डॉल उसी म्यूज़ियम में रखी है और कहा जाता है कि शो केस में बंद गुड़िया अपने हाथ पैर हिलाती है |

3. JAMES DEANS CAR –

जेम्स डीन का जन्म 1931 में हुआ था और वह अपने जमाने के मशहूर एक्टर थे |
            
उनके पास एक पोर्सच 550 स्पाइडर ( Porsche 550 Spyder ) कार थी जिसने कई लोगों की जान ले ली |
इस कारण यह श्रापित वस्तु में गिनी जाने लगी |
इस कार की खौफ़नाक कहानी शुरू होती है 1955 से जब STAR WARS movie के मशहूर एक्टर एलक गुलनेस    ( Alec Guinness ) 23 सितम्बर 1955 को इस कार में बैठने के बाद कहा कि मुझे इस कार में कुछ अजीब महसूस हुआ |
उन्होंने डीन को कहा कि अगर वे सात दिन और इस कार को चलाते हैं तो डीन की मृत्यु हो जायेगी |
ठीक सात दिन बाद ऐसा ही हुआ, 30 सितम्बर को डीन का अपनी कार में एक्सीडेंट होने से मौत हो गई |
एक्सीडेंट के बाद टूटी कार को जॉर्ज बेरिस ( George Barris ) ने ले लिया |
जॉर्ज वेरिस जब इस टूटी कार को अपने गैरेज में ले गये तो इसे ठीक करते समय एक कर्मचारी के पैर पर यह कार गिर गई जिससे उस कर्मचारी का पैर टूट गया |
कार ठीक करके जॉर्ज ने इसके इंजन को ट्रो मैकहेनरी ( Troy McHenry ) और बाकी बॉडी विलियम एसरीड  ( William Eschrid ) को बेच दिया |
उन दोनों के बीच एक रेस हुई जिसमें दोनों कार का एक्सीडेंट हो गया |
ट्रो मैकनहरी की इस दुर्घटना में मौत हो गई और विलियम एसरीड मरते मरते बचे |
एक्सीडेंट के बाद क्षतिग्रस्त कार को कैलिफ़ोर्निया हाइवे पैट्रोल पंप ने खरीदा और अपने गैरेज में रखा |
 
उसी रात उस गैरेज में आग लग गई और सबकुछ जलकर राख हो गया परन्तु क्षतिग्रस्त कारों को खरोंच तक नहीं आई |
इन सब घटनाओं को देखते हुए इन कारों को एक ट्रक में लादकर कहीं ले जाया जा रहा था, परन्तु ट्रक कहाँ गायब हो गया |
इसका आज  तक पता  नहीं चल पाया है |

4. THE HOPE DIAMOND –

यह हीरा भारत के आंध्रप्रदेश राज्य के गोलकुंडा खान में पाया गया था |
एक मूर्तिकार द्वारा इस हीरे को भगवान शिव की मूर्ति में तीसरी आँख की जगह पर लगा दिया गया था |
हिन्दू मान्यता के अनुसार भगवान शिव के दोनों नेत्र सूर्य और चन्द्रमा के प्रतीक हैं और तीसरी  आँख  अग्नि का प्रतीक है |
इस आँख को एक फ्रांसीसी व्यापारी ने 1650 ई. के आस पास शिव जी की मूर्ति से चुरा लिया था |
वह व्यापारी इस हीरे को फ्रांस ले जाकर महाराजा लुई 14वें को अच्छी कीमत पर बेच दिया था |
कुछ ही दिनों बाद वह फ्रांसीसी व्यापारी जंगली कुत्तों का शिकार हो गया था | इसके बाद यह हीरा लुई 15वें और लुई 16वें और नेपोलियन के पास रहने के बाद चोरी हो गया |
कुछ सालों बाद इंग्लैंड के राजा जॉर्ज चतुर्थ के पास होने की खबर मिली |
यहाँ से लगभग 1830 ई. में ब्रिटिश बैंकर थॉमस होप ने इसे खरीदा और 1839 में इसे प्रदर्शनी में रखा |
थॉमस होप की वजह से ही इसे ब्लू डायमंड से  होप डायमंड नाम दिया गया |
होप की मृत्यु के बाद यह अनगिनत व्यापारियों से होता हुआ 1905 में अमेरिका पहुँच गया |
इस हीरे का श्राप इतना गहरा था कि इसे रखने वाला इंसान या जो भी मालिक बनता था अचानक मृत पाया जाता था |
अंत में इसे न्यूयॉर्क के स्मिथ सोनियन म्यूज़ियम को दे दिया गया |
इस हीरे से जुड़ी कुछ मनहूस घटनाएं निम्न हैं –
(I) जैक्स कोलेट मे साइमन फ्रैंकेल से होप डायमंड खरीदा और आत्महत्या कर लिया |
(ii) प्रिंस इवान कनिटोव्स्की ने इसे कोलेट से खरीदा, वह रूसी क्रांतिकारी द्वारा मारा गया |
(iii) कनिटोव्स्की ने इसे मल्ले लाडू को उधार दिया जिसकी हत्या प्रेमी द्वारा कर दी गई |
(iv) सुलतान हामिद ने अबु सबीर को पॉलिश करने के लिए दिया और बाद में सबीर को कैद कर लिया गया |
(v) हैबर अधा को फांसी दी गई |
(VI) किंग लुई ने इसे मैडम डी मॉन्टेसन को दिया, जिसे बाद में उन्होंने त्याग दिया |

 

5. ANNA BAKER’S WEDDING DRESS –

एना बेकर एक अमीर आदमी की लड़की थी जिसे एक गरीब लड़के से प्यार हो गया था |
एना बेकर ने अपनी शादी का जोड़ा भी बनवा लिया था |
लेकिन उसके पिताजी ने उसकी शादी उस गरीब लड़के से नहीं होने दी | एना बेकर ने किसी दूसरे से भी शादी नहीं की और सारी ज़िन्दगी अकेली ही रही |
उसके मरने के बाद शादी की यह ड्रेस म्यूज़ियम में रखी गई |
          
कुछ लोगों ने दावा किया है कि यह ड्रेस अपने आप चलती है और डांस भी करती है |
ऐसा माना जाता है कि एना बेकर की यह ड्रेस एना के श्राप से श्रापित वस्तु बन चुकी है |
दोस्तों, श्रापित वस्तु   के बारे में आपकी व्यक्तिगत राय क्या है कमेंटस में बताने का कष्ट करें | श्रापित वस्तु की  इस पोस्ट को अधिक से अधिक लाइक और शेयर भी करें |

आपका ——- प्रमोद कुमार

अन्य पोस्ट —
1.  श्रापित तस्वीर : जिन्हें जानने के बाद भी यकीन नहीं होगा
2.  श्रापित फिल्में : जिनकी सच्चाई आप नहीं जानते होंगें
3.  जादुई आईना : अतीत का अनसुलझा रहस्य
4.  भारत में रहस्यमय घटनाएं
5  दूसरी दुनिया से आया रहस्यमयी व्यक्ति जो लाया सच्चा सबूत

 

 

 

 

About PRAMOD KUMAR

मेंने ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन राजस्थान में कम्पलीट किया |इसके बाद B. Ed कर्नाटक से किया | लेखन की चाह बचपन से ही थी, कॉलेज आते आते इसमें कुछ निखार आ गया |कॉलेज में यह स्थिति थी कि यदि कोई निबंध प्रतियोगिता होती और उसमें मेरे शामिल हो जाने से प्रतियोगिता दूसरे और तीसरे स्थान के लिए रह जाता | वापस राजस्थान आने पर अपना विद्यालय खोला ,सरकारी शिक्षक बनकर त्याग पत्र दे दिया |बिजनेस में एक सम्मानित ऊँचाई को पाकर धरातल पर आ गया |अब अपने जन्म स्थल पर कर्म कर रहा हूँ, जहाँ शिक्षा देना प्रमुख कर्म है | बचे समय में लिखने का अपना शौक पुरा करता हूँ |

View all posts by PRAMOD KUMAR →

4 Comments on “श्रापित वस्तु : जिन्हें जानकर आप हैरान हो जायेंगे”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *