लिएंडर पेस का जीवन परिचय Biography Of Leander Paes

लिएंडर पेस का जीवन परिचय Biography Of Leander Paes

लिएंडर पेस का जीवन परिचय । दोस्तों, लिएंडर पेस भारत के सर्वोच्च टेनिस खिलाड़ी हैं । ये उस दौर के खिलाड़ी हैं जिस समय भारत में टेनिस जैसे खेलों को कुछ खास महत्व नहीं दिया जाता था । लेकिन लिएंडर पेस ने अपनी मेहनत और बेहतरीन खेल प्रदर्शन से भारतीय लोगों का ध्यान टेनिस जैसे खेल प्रति आकर्षित किया । और साथ ही साथ कई पदक जीतकर विश्व में भारत का नाम रोशन किया ।

आज के इस लेख में हम लिएंडर पेस के जीवन की कुछ महत्वपूर्ण बातों को जानने की कोशिश करेंगे ।

जीवन परिचय

ये पुरुष डबल्स तथा मिक्सड डबल्स के सर्वाधिक सफल खिलाड़ियों में से एक हैं ।

इनका जन्म गोवा में 17 जून सन् 1973 को हुआ था । और पालन – पोषण कोलकाता में हुआ ।

इनकी मां का नाम जेनिफर पेस है । इनकी मां 1980 में भारतीय बास्केट बॉल टीम की कैप्टन थी ।

और इनके पिता डा0 वैस अगापितो पेस हैं । जो हॉकी के मिड-फील्डर थे ।

और 1972 के म्यूनिख ओलंपिक में भारतीय टीम के सदस्य थे । तथा इन्होंने कांस्य पदक जीता था ।

इनकी स्कूली शिक्षा मद्रास क्रिस्चन कॉलेज, हायर सेकेंड्री स्कूल से हुई ।

इनका निवास स्थान भारत में कोलकता तथा अमेरिका के फ्लोरिडा में ऑरलेन्डो में है । ये दाहिने हाथ का खिलाड़ी है ।

इन्होंने 7 वर्ष की आयु में टेनिस सीखना आरम्भ कर दिया था ।

और खेल की बेसिक जानकारी साउथ क्लब, कोलकाता से आरम्भ की थी ।

खेल का प्रारम्भ

1985 में मद्रास की ब्रिटानिया टेनिस एकेडेमी से प्रशिक्षण आरम्भ कर दिये । वहां इनके कोच  दबे – ओ – मियरा थे ।

14 वर्ष से कम आयु वर्ग की राइस बाउल चैंपियनशिप उन्होंने 1987 में हांगकांग में जीती ।

तथा 2 वर्ष बाद 16  वर्ष से कम आयु वर्ग की प्रतियोगिता भी उन्होंने जीती ।

उन्होंने जूनियर व सीनियर राष्ट्रीय चैंपियन का खिताब भी हासिल किया ।

पेस को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति 1990 में अर्जित हुई । जब उन्होंने विंबलडन जूनियर का खिताब जीता ।

और जूनियर विश्व रैंकिंग में नम्बर एक खिलाड़ी बन गए ।

महेश भूपति व लिएंडर पेस

डबल्स में लिएंडर पेस ने महेश भूपति के साथ  मिलकर इस जोड़ी को भी  नम्बर एक का रैंक हासिल करवाया ।

वैसे तो लिएंडर पेस और महेश भूपति की जोड़ी की कहानी बड़ी ही दिलचस्प  है जिसमें बार – बार उतार – चढ़ाव आते रहे ।

इस जोड़ी का मिलन और अलगाव अनेकों बार हुआ ।

वैसे तो भारत में लोग  क्रिकेट से ही जुड़े रहना ज्यादा पसन्द करते हैं ।

परन्तु फिर भी लिएंडर पेस और महेश भूपति की जोड़ी का खेल भारत के साथ – साथ विश्व में भी काफी प्रसिद्धि हासिल किया ।

इन दोनों की जोडी ने सर्वप्रथम अक्टूबर 1994 में जकार्ता चैलेंजर खेला ।

अटलांटा ओलंपिक, 1996 में । हालाँकि दूसरे दौर में यह जोड़ी हार गई ।

उसी वर्ष इस जोड़ी ने डेविस कप में अपनी उपस्थिति का एहसास कराया ।

और भी है

1997 से 2002 के बीच इस जोड़ी ने 22 टाइटल जीते ।

जिसमें पुरुष डबल्स के तीन ग्रैड स्लैम शामिल थे ।

1999 का फ्रेच ओपन और विंबलडन इसी जोड़ी ने जीता ।

2001 का विबंलडन भी इनमें महत्वपूर्ण है । आज तक किसी अन्य जोड़ी ने ऐसी शानदार सफलता प्राप्त नहीं की है ।

हालांकि अनेक बार इन दोनों खिलाड़ियों के बीच मतभेद होते रहे ।

और उन्होंने साथ-साथ न खेलने का फैसला किया ।

वर्ष 2002 में उनके बीच दरार पड़ गई । और इसी वर्ष अप्रैल में उन्होंने साथ न खेलने का निर्णय लिया ।

प्रोफेशनल टेनिस में अलगाव हो जाने पर भी उन दोनों ने बुसान एशियाई खेलों में जोड़ी के रूप में खेलकर शानदार प्रदर्शन किया और स्वर्ण पदक जीता ।

2003 में लिएंडर ने अन्य खिलाड़ियों के साथ जोड़ी बनाने का प्रयास किया ।

लेकिन फिर डेविस कप के लिए लिएंडर और महेश भूपति ने फिर से जोड़ी बनाई ।

पेस और भूपति की जोड़ी राष्ट्र के गर्व और प्रशंसा की हकदार मानी गई है ।

लिएंडर को टेनिस के अतिरिक्त गोल्फ खेलने का भी शौक है ।

पुरस्कार एवं सम्मान

भारत के व्यावसायिक टेनिस खिलाड़ी जो  युगल एवं मिश्रित युगल मुकाबलों में भाग लिया ।

वह भारत के सफलतम खिलाड़ियों में से एक हैं । उन्होंने कई युगल एवं मिश्रित युगल स्पर्धायें जीती ।

इनको भारत का खेल जगत में सबसे ऊँचा पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार  वर्ष 1996 – 1997 में दिया गया ।

और साथ ही 2001 में पद्मश्री पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया ।

2014 में इन्हें पद्म भूषण से भी सम्मानित किया गया ।

दोस्तों, यदि यह जानकारी आप लोगो को अच्छी लगी हो तो, इसे लाइक और शेयर जरूर करें ।

धन्यवाद ।

इसे भी पढ़े 👍👇

17 जून को प्रमुख व्यक्तियों का जन्म, निधन और प्रमुख दिवस

About Bharti

Sapano ka sansar hai ab to bas chahane walon ka intajar hai.

View all posts by Bharti →

4 Comments on “लिएंडर पेस का जीवन परिचय Biography Of Leander Paes”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *