मैंगनीशियम के लाभ,हानि एवं इसके स्रोत, आइए जानें।

मैंगनीशियम के लाभ,हानि एवं इसके स्रोत,आइए जानें।

 

 

 

 

मैंगनीशियम :- मैंगनीशियम ,जी हाँ दोस्तो आज हम इस खनिज के बारे में कुछ जानकारी देना चाहेेंंगे। अन्य खनिजों के
साथ-साथ मैंंगनीशियम भी हमारे शरीर केे लिए अत्यंत आवश्यक है। हमारी हड्डियों को मजबूती प्रदान करने हेतु
कैल्शियम व मैंंगनीशियम की अत्यंत आवश्यकता होती है। स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में लगभग 25- 30 ग्राम यह खनिज
मौजूद रहता है और इसका 50-60 % भाग हड्डियों मेंं पाया जाता है। शारीरिक क्रियाकलापों को दुुुरस्त रखने हेेेतु इस
खनिज की अत्यंत आवश्यकता होती है। बात चाहे हड्डियों के निर्माण की हो या फिर माँसपेशियों को मजबूत बनाने की,इस
खनिज का महत्वपूूर्ण रोल होता है। बेरियम व कैल्शियम की तरह ही इस खनिज में  क्षारीय गुण मौजूद होते हैं। इस खनिज
की कमी से न्यूूूरोमस्क्यूलर जैसी समस्या व अधिकता से डायरिया जैसी परेशानी हो सकती है। हरी सब्जियों व सूखेे मेवों में
अत्यधिक मात्रा में पाए जाने वाले इस खनिज के बारे में दोस्तो चलिए विस्तारपूर्वक जानकारी लेने की कोशिश करते हैैं।

 

मैंगनीशियम के लाभ :-

(1) गर्भवती महिलाओंं के लिए इस खनिज की अत्यंत आवश्यकता होती है,क्योंंकि शरीर में मौजूद भ्रूण के विकास हेतु कम
      से कम 350-400 मिग्रा इस खनिज कीअत्यंत आवश्यकता होती है।

 

 

 

(2) प्रतिदिन इस खनिज का सेेेवन करके हायपरटेंशन जैसी बीमारी से बचा जा सकता है। इसलिए फल व हरी सब्जियों का
       प्रचुर मात्रा में सेवन करें।

 

 

 

(3) इस खनिज का सेवन करके कोरोनरी हर्ट डिसीज से बचा जा सकता है। इसलिए दिल सम्बन्धी बीमारियों से बचने हेतु
       इस खनिज का अवश्य सेवन करें।

 

 

 

(4) टाइप टू डायबिटीज से बचने हेतु व मेमोरी पावर बढ़ाने हेतु इस खनिज का सेेेवन किया जाए,तो अत्यंत लाभकारी होता
       है।

 

 

 

मैंगनीशियम की कमी से होनेे वाली बीमारी :-

(1) हाथ व पैैैरों की माँसपेशियों में दर्द, थकान, स्वभाव में चिड़चिड़ापन,निराशा महसूस होना आदि इस खनिज की कमी के
       संंकेेेत हैैं।

 

 

(2) सिर दर्द,अनिद्रा,डिप्रैशन,दिल से जुड़ी बीमारियाँ,याददाश्त कमजोर हो जाना इस खनिज की कमी के कारण होता है।

 

 

 

मैंगनीशियम के स्रोत :-

(1) बादाम :- बादाम इस खनिज का अच्छा स्रोत है। एक बार इसकी मात्रा लेने सेे लगभग 75 मिग्रा मैंगनीशियम प्राप्त होता
                        है। इसके अतिरिक्त बादाम में जिंक ओमेगा-3 फैटी एसिड व विटामिन ई भी प्रचुुर मात्रा में मिल जाता है।
                       प्रतिदिन पाँच   बादाम खाकर इस खनिज की पूर्ति की जा सकती हैै।

 

 

 

(2) दही :- यदि दही का प्रतिदिन सेेेवन किया जाए,तो इस खनिज की पूर्ति की जा सकती हैै। जो व्यक्ति ऑस्टियोपोरोसिस
                   व हड्डडियों की अन्य समस्याओंं से पीड़ित हैं,वे दही का अवश्य सेवन करें।

 

 

 

(3) खजूूूर :- खजूर मेें भी यह खनिज प्रचुुर मात्रा में मिल जाता है। सर्दियोंं के मेेेवे के रूप मेें विख्यात यह खनिज अनेक रोगों
                       को भगाने की क्षमता रखता है। अगर देखा जाए,तो 43 मिग्रा मैंगनीशियम की मात्रा 100 ग्राम खजूर केे खाने से
                      पूूूरी की जा सकती है।

 

 

 

 

(4) पालक :- नियमित रूप से पालक का सेवन करके इस खनिज की पूर्ति की जा सकती हैै। कैैंसर व डायबिटीज जैैैसी
                         बीमारियों को दूूूर करने में पालक अत्यंत लाभकारी है।

 

 

 

(5) केला :- केला इस खनिज का सबसे अच्छा स्रोत है। नियमित रूप से एक केले का सेवन करके 30-32 मिग्रा मैैंगनीशियम
                    की पूर्ति की जा सकती है।

 

 

 

(6) सोयाबीन :- सोयाबीन इस खनिज की पूर्ति कर देेेता है।अगर इसे भिगोकर अंकुरित करके प्रयोग किया जाए,तो अत्यंत
                              लाभकारी सिद्ध होता है। नियमित सेेेवन करके शारीरिक वृृृद्धि तो होती ही है,साथ में कब्ज की समस्या को दर
                             किनार किया जा सकता है।

 

 

 

 

(7) अलसी :- सुपर आहार के रूप मेें प्रसिद्ध अलसी इस खनिज का अच्छा स्रोत है। प्रतिदिन एक चम्मच अलसी का
                         प्रयोग करके 30 मिग्रा शरीर के लिए आवश्यक इस खनिज की पूर्ति की जा सकती है।

 

 

 

प्रतिदिन इसकी ली जाने वाली मात्रा :-

0 से 3 माह – 30 mg
7 से 12 माह – 75mg
1 से 3 वर्ष – 80 mg
4 से 8 वर्ष – 130 mg
9 से 13 वर्ष -240 mg
14 से 18 वर्ष(पुरुष) – 410 mg
14 से 18 वर्ष(महिला) – 360 mg
19 से 30 वर्ष(पुरुष) – 400 mg
19 से 30 वर्ष(महिला) – 310 mg
31 वर्ष व उससे ऊपर(पुु०) – 400 – 420 mg
31 वर्ष व उससे ऊपर (म०) – 310-320mg
गर्भवती महिलाएँ – 350- 360 mg
स्तनपान कराने वाली महिलाएँ – 310 – 320mg
तो दोस्तो यह जानकारी आपको पसंद आई हो,तो लाइक,कमेंट व शेयर करना न भूलेंं।
                                                                                                                                                           धन्यवाद
अन्य पोस्ट भी पढ़ें 👇👇👇👇👇
(1) विटामिन ए के लाभ,हानि एवं इसके स्रोत आइए जानें।
(2) विटामिन बी के लाभ,हानि एवं इसके स्रोत आइए जानें।
(3) विटामिन सी के लाभ,हानि एवं इसके स्रोत आइए जानें।­

 

 

4 Comments on “मैंगनीशियम के लाभ,हानि एवं इसके स्रोत, आइए जानें।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *