सेक्स का मजा कौन ज्यादा लेता है ? पुरुष या महिला !Who takes more of sex fun? Male or female !

 सेक्स का मजा कौन ज्यादा लेता है ? पुरुष या महिला !Who takes more of sex fun? Male or female !

 

Image result for lovers hd images

जी हां दोस्तों कैसे है बढ़िया होगा सब, आज मै आपको एक नए टॉपिक्स बारे में बताने जा रहा हूँ की महिला और पुरषो में सेक्स का सबसे ज्यादा मजा कौन लेता है मर्द या पुरुष इस टॉपिक्स के बारे में बहुत से साइट और बहुत से ब्लॉग में या यूट्यूब वीडियो में बताया जा चूका है पर सब अपने अपने मत देते रहते है ! आज मै भी कुछ अपने मन की बात आपलोगो के साथ शेयर करने चल रहा हूँ और कुछ लोग तो इसके विषय में बहुत ही अच्छी तरीके से जानते भी है!

तो फिर दोस्तों ज्यादा समय न लेते हुए बात टॉपिक्स पर लाते है आर्टिकल्स को पढ़ना अब सुरो करे –

दोस्तों सेक्स इंसान की जरूरत है और इसके बिना वो पूर्ण नहीं है अर्थात अधूरा है सेक्स से हम अपने प्यार का इजहार नहीं कर सकते बल्कि यूं कहे की सेक्स से हमें जीवन में तनाव मुक्त और खुसी मिलती है ! पर सवाल ये उठता है की सेक्स में सबसे ज्यादा मजे कौन लेता महिला या पुरुष ?तो महाभारत काल में एक कथा बहुत प्रसिद्ध है जो इस प्रकार से वर्णन किया गया है जिसमे एक राजा महिला और पुरुष दोनों रूपों में अपना जीवन व्यतीत करता है आगे की कथा या आपके लिए तो भाई आर्टिकल्स ही है तो आगे पढ़े और समझे किसको मिलता है ज्यादा सेक्स में सुख महिला या पुरुष ?

Image result for SEX IMAGE BHAKTI

पितामह भीष्म से किया था ये प्रश्न? युधिष्ठिर ने क्या ? आगे पढ़े …

एक बार युधिष्ठिर पितामह की पास गए और बोले पितामह मेरे मन में एक दुबिधा जनक सवाल है अगर आदेश हो तो मै अपना प्रश्न रखू आपके सामने पितामह ने कहा पूछो पुत्र क्या सवाल है तब युधिष्ठिर ने कहा हे तात मै ये जानना चाहता हूँ की स्त्री और पुरुष में सेक्स या सम्भोग करने का सबसे ज्यादा मजा कौन ले पता है या सबसे ज्यादा आनंद किसे मिलता है पितामह युधिष्ठिर की बातो को सुनकर मुस्कराने लगे और बोले हे पुत्र मै आज तुमको भागस्वाना और सकरा की कथा सुनाता हूँ जिसमे तुम्हारा जबाब छुपा हुआ है !

बहुत समय पहले की बात है भागस्वाना नाम की एक राजा थे जिनके पुत्र नहीं हो रहा था तो उन्होंने यज्ञ की द्वारा अग्नि देव् का अनुष्ठान किया और उस अनुष्ठान में केवल अग्नि देव् का अनुष्ठान हुआ था जिससे भगवन इन्द्र देव् बहुत ही क्रोधित हुए और इंद्र देव् राजा से बदला लेने की ठान ली और राजा भी बहुत परतापी राजा था और योगी भी तो इंद्र को भी वो कोई अपने गलती का मौका नहीं दे रहा था और इन्द्र राजा की गलती की ही ताक में था पर मौका नहीं मिल रहा था पर एक दिन राजा शिकार पर जंगल में गया !

तब इन्द्र ने राजा को सम्मोहित कर लिया और समोहन की कारण राजा को न ही सैनिक दिखाई दे रहे थे और न ही सही दिशा का ज्ञान हो पा रहा था राजा भूख प्यास से पूरी तरह से ब्याकुल हो उठा और तभी उसे एक सुन्दर सा झील दिखाई पड़ा बहुत ही सुन्दर झील था जो की इन्द्र देव् ने जादू से ही बनाया था पर राजा को कुछ समझ में नहीं आया और वो झील की पास गया और अपने घोड़े को पानी पिलाया और खुद भी पानी पी जैसे ही राजा ने पानी पिया तो उसका सरीर पुरुष से स्त्री में परिवर्तन होने लगा और वो जोर जोर से बिलाप करने लगा वो पूरी तरीके से स्त्री हो हो गया

मुझे स्त्री ही रहने दो : 

राजा किसी तरीके से स्त्री स्वरुप लेकर अपने महल पंहुचा तो सबको बुलाकर कहने लगा की मेरे साथ ऐसा हुआ है और मै अब जंगल में जा रहा हूँ बाकि समय वही व्यतीत हो जायेगा और आपसब राजपाट देखो और सम्भालो ! और वो जंगल में जाकर एक तपस्वी की आश्रम में रहने लगी और कई पुत्रो का जनम भी दिया और उन पुत्रो को लेकर अपने राज्य में गयी और वह सब से बता दिया की ये मेरा ही पुत्र है और सब मिलजुल कर राजपाट चलाओ सब मिलकर राज चलाने लगे तब इन्द्र को ये सब देखकर और भी गुसा आने लगा और इन्द्र ने जाकर उसके राज्य में उसके सारे पुत्रो को मरने लगा और आपसी कलह करा दिया जब ये बात राजा यानि स्त्री ताक पहुंची तो तो राजा यानि स्त्री रोने लगी और तभी इन्द्र ने एक साधू का रूप बनाकर स्त्री की पास गया और पूछने लगा की वो क्यों रोरही है !

तो स्त्री ने अपनी सारी ब्यथा बताई तभी इन्द्र ने अपने असली रूप में आकर उसकी गलती का एहसास कराया और इन्द्र ने सभी पुत्रों का जीवन देकर और और राजा को माफ़ किया क्युकी राजा ने अपनी गलती मानी और इन्द्र ने राजा रुपी स्त्री से बहुत खुश हुआ और कहा मै तुम्हे फिर से स्त्री से पुरुष बनता हूँ और अपना राजपाट देखो राजन पर राजा ने कहा भगवन मै स्त्री ही रहना चाहती हूँ मै स्त्री ही रहना चाहती हूँ ये शब्द सुनकर इन्द्र सोच में पद गए और पुछा क्यों तुम स्त्री ही रहना चाहती हो ?

तो राजा रुपी स्त्री ने कहा भगवन पुरषो की अपेछा स्त्री को सम्भोग करते वक़्त ज्यादा सुख मिलता है और मै अब इस सुख को खोना नहीं चाहती हूँ तो इन्द्र ने कहा तथास्तु और वो राजा बाकि की समय में भी स्त्री ही रहा सुख भोगता रहा

तब पितामह ने युधिष्ठिर से कहा की स्त्री को सम्बन्धो या सम्भोग की की समय पुरषो की अपेछा ज्यादा सुख मिलता है !

धन्यवाद                                                                      शेयर और लाइक जरूर करे

4 Comments on “सेक्स का मजा कौन ज्यादा लेता है ? पुरुष या महिला !Who takes more of sex fun? Male or female !”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *