कौन है भारत की पहली लडाकू हवाई जहाज पायलट? Who is one of the first female fighter pilot?

 कौन है भारत की पहली लडाकू हवाई जहाज पायलट? Who is one of the first female fighter pilot of India ?

 आज हम जानने वाले हैं एक होनहार, बहादूर विरांगणा,एक सच्ची रणरागिनी,एक ऐसी नारी शक्ती के बारे में ,जो हाल ही में लडाकू हवाई जहाज पायलट (Female Fighter pilot)  घोषित कर दी गयी हैं।

ऐसा कहाँ जाता है कि, आज कल की महिलाएँ हर क्षेत्र में पुरूषों के बराबर अग्रेसर होती जा रही हैं,लेकिन यह अर्धसत्य हैं। सच बात तो यह हैं, कि, प्राचीन काल से ही महिलाएँ कभी पुरूषों से ना कम थी ना आज हैं। 

   इतिहास गवाह हैं इस बात का। इतिहास को अगर टटोलकर देखें तो ऐसे कई उदाहरण सामने आते हैं। इसमें से ऐसे ही कुछ नामों में शामिल हैं, “मेरी झाँसी नहीं दूँगी “का नारा लगाने वाली और अंग्रेजों को भगाने वाली विरांगणा – झाँसी की राणी- लक्ष्मीबाई,अपने लाडले शिवबा,वीरों की कहानियाँ सुनाकर, वीर योध्दा छत्रपती शिवाजी महाराज बनाने वाली – जिजाबाई भोसले, अहिल्याबाई होळकर, स्री शिक्षण का पुरस्कार करने वाली- रमाबाई रानडे,उनके बाद महिलाओं को शिक्षण का अधिकार लाने वाली – सावित्रीबाई फुले और भी कई उदाहरण दिये जा सकते हैं ।

 

आधुनिक भारत में भी कई नाम शामिल हैं, जैसे की, अवकाश विरांगणा – कल्पना चावला, खेलरत्न पी. टी. उषा, भारतरत्न, गानकोकिळा लता मंगेशकर, भारतरत्न किशोरी ताई अमोनकर और भी कई नाम शामिल हैं जिन्होने भारत का नाम रौशन करने का महान कार्य किया हैं।

 

दुनियाभर में ऐसे कुछ गिने -चुने देश ही हैं जो महिलाओं को लजाकू वैमानिक बनने का अवसर प्रदान करते हैं। इन देशों में ब्रिटन, अमेरिका, इस्रायल और पाकिस्तान शामिल हैं।    भारत में पहली बार इ. स. २०१५ में भारत सरकारने महिलाओं को लडाकू वैमानिक होने का अवसर उपलब्ध कराया हैं। 

 

  २५ वर्षीय अवनी चतुर्वेदी हाल ही में  लडाकू विमान सारथी बनी हैं। और इन्होने ” मिग-२१ बायसन” इस फायटर जेट का सारथ्य किया हैं।  बिना किसी के सहारे, अकेले लडाकू विमान उडाने वाली, अवनी चतुर्वेदी पहली महिला फायटर जेट पायलट हैं।

 

२५ वर्षीय अवनी, मध्य प्रदेश के रेवा जिले से हैं। शालेय शिक्षा मध्य प्रदेश के शाहदोल जिले के, एक छोटे से गाँव देऊलंद में पूरी की हैं।

 

  ई. स. २०१४ में राजस्थान के बनस्थली विद्यापीठ से पदवी प्राप्त की हैं। इस उपरांत उन्होने भारतीय हवाई दल की परीक्षा उत्तीर्ण की हैं। हैदराबाद एअरफोर्स अकॅडमी से उन्होने अपना प्रशिक्षण पूरा किया हैं।  

नारी शक्ती की जय। 

भारत माता की जय।🇮🇳

 

 

About yogeshtekale1978

I have Passed Diploma in electrical Engineering at govt. Polytechnic, Nanded in 2001. I have worked as Medical Representative in Colinz pharmaceutical & Auphoric Pharmaceutical also. Self employed, working online as an affiliate & a blogger. I'm a classical singer & performs in the events.

View all posts by yogeshtekale1978 →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *