स्वच्छता और पवित्रता एक झलक Differences between Sanctity and Sanitation

स्वच्छता और पवित्रता एक झलक Differences between Sanctity and Sanitation

स्वच्छता और पवित्रता पानी और फूल के समान कोमल होती है।

स्वच्छता और पवित्रता देखने में एक से शब्द लगते हैं परंतु इन दोनों में काफी अंतर है और दोनों ही आपस में जुडे हुए हैं।

स्वच्छता का अर्थ बाहरी सुंदरता से लिया जाता है परंतु पवित्रता हमारे मन से जुडी होती है। मन से अभिप्राय है विचारों से, जो हमें तन मन से बांधे रखते हैं।

स्वच्छता के साथ साथ पवित्रता का ह़ोना जरुरी होता है।

आइए इसे एक उदाहरण से समझें…

क्या आप अपने शौचालय में बैठकर खाना खा सकते हो?

उत्तर होगा नहीं…

क्यों???

आप शौचालय को अपने घर से भी अधिक स्वच्छ रखते हैं फिर उसमें बैठकर खाना क्यों नहीं खा सकते। क्योंकि शौचालय साफ है लेकिन पवित्र नहीं।

इसलिए दोस्तो हमेशा याद रखो कि…

स्वच्छता के साथ साथ पवित्रता का होना जरुरी होता है।

 

3 Comments on “स्वच्छता और पवित्रता एक झलक Differences between Sanctity and Sanitation”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *