मार्च में खेती के मुख्य कार्य। The main functions of farming in March

आ

मार्च महीने के खेती में काम, भाग 1 The main function of farming in march, part 1

 

नमस्कार दोस्तो आज हम आप लोगों को बताने जा रहे हैं ,कि मार्च महीने में कौन से काम खेती के जरूरी हैं तो आइए जानते हैं मार्च में जरूरी काम।

1 इस माहिने में गेहूँ की फसल में हल्की सिचाई कर दें ,सिचाई साम  को करें, जब हवा न चल रही हो। नही तो फसल गिरने की संभावना बढ़ जाती है ।

2 चने में किटनासक का छिड़काव 15 दिन के अंतर पर करते रहें।

3 सरसों की कटाई 75 से 80 प्रतिसत फलियां पीली पड़ जाने पर करलें ।

3 गन्ने की कटाई मार्च के अंत तक जरूर कर लें। इसकी पत्ति को खेत मे बिखेर कर हल्की सिचाई कर उर्वरक की टापडेसिंग कर दे जिससे अच्छे कल्ले निकलेंगे।

4 गन्ने की बुवाई का यह बहुत अच्छा समय है , इस महीने में गन्ने की बुवाई अंतिम पखवाड़ा तक जरूर करलें।

प्याज ,और सब्जियों वाली पौध की सिचाई 15 दिन के अंतर पर करते रहें।

6 लहसुन को अंतिम पखवाड़े में खुदाई कर लें, और ज्यादा की फसलों उरद मूग की बुवाई कर ले उरद की बुवाई 15 मार्च तक मूंग की बुवाई 15 अप्रैल तक कि जा सकती है।

7 पशुवों के लिए हरे चारे की बुवाई जरूर कर देनी चाहिये।

गाय, भैंस को हीट में आने पर गर्भाधान कराये । गर्मी के मौसम की सुरुवात होने के कारण पशुवों के आहार में चावल के दाने में किसी दाल की खाली को मिला कर दे। सोया बीन की खाली भी दे सकते हैं।

आज के लिए इतना ही धन्यवादG

 

About Technical kumar

Hello dosto mai satish kumar Mai aap logo ko kheti ki jankari ke saath mile ge Thanks

View all posts by Technical kumar →

2 Comments on “मार्च में खेती के मुख्य कार्य। The main functions of farming in March”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *