मानव मस्तिष्क के रहस्य और मानव मस्तिष्क जानकारी | top 10 mysteries of the human mind.

मानव मस्तिष्क के रहस्य और मानव मस्तिष्क जानकारी | top 10 mysteries of the human mind.

मानव मस्तिष्क के रहस्य और मानव मस्तिष्क जानकारी | top 10 mysteries of the human mind.

मानव के Brain को तीन भागों में divide किया गया है | 

1. अग्रमस्तिष्क
2. मध्यमस्तिष्क
3. पश्च मस्तिष्क

मस्तिष्क

अग्रमस्तिष्क में मुख्य रूप से सेरेब्रम होता है, जो मस्तिष्क की सोचने की शक्ति को नियंत्रित करता है | Midbrain किसी और हिस्से के रूप में विभाजित नहीं होता है और Posterior brain में पोंस, Cerebelfum और मेडुला शामिल है | Posterior brain का काम देखने और सुनने की उत्तेजनाओं के प्रतिक्रियास्वरूप सिर, गर्दन आदि में होने वाले परिवर्तन को control करना है | यह eye की मांसपेशियों की गति को भी नियंत्रित करता है |
दोस्तों इस post में आपको मानव मस्तिष्क के रहस्य और मानव मस्तिष्क जानकारी से  अवगत कराएंगे, जिसके बारे में आप शायद ही जानते होंगे |

मस्तिष्क

इसे भी पढ़े :- पिरामिड के बारे में जानकारी और पिरामिड के रहस्य 

Human Brain के बारे में 10 दिलचस्प तथ्य :-
1. Human Brain का वजन शरीर के कुल वजन का लगभग 2% अर्थात 3 पौंड के बराबर होता है, जिसमें से 60% वजन इसमें उपस्थित वसा का होता है, जिसकी वजह से मस्तिष्क हमारे शरीर का सबसे वसायुक्त अंग है |
2. वैज्ञानिकों के अनुसार रात की अपेक्षा दिन में Human Brain अधिक सक्रिय होता है. मुख्य रूप से हमारे मस्तिष्क में लगभग 100 अरब Neuron कोशिकाएं होती हैं |
3. मैडिसन में स्थित विस्कॉन्सिन विश्वविद्यालय (University of Wisconsin) के मानव विज्ञानी जॉन हॉक्स के अनुसार मानव मस्तिष्क करीब 9 घन इंच अर्थात 150 घन सेंटीमीटर सिकुड़ गया हैं, जबकि प्राचीन काल में मानव मस्तिष्क का औसत क्षेत्रफल 82 घन इंच अर्थात 1350 घन सेंटीमीटर था |
4. गर्भावस्था के दौरान न्यूरॉन्स प्रति मिनट 2,00,000 से भी अधिक तेजी से बढ़ता  है |
5. आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि केवल 5 मिनट तक ऑक्सीजन की कमी होने पर ही मानव मस्तिष्क काम करना बंद कर देता है |
6. क्या आप जानते हैं कि मानव मस्तिष्क में 12-25 वाट बिजली उत्पन्न होती है, जोकि कम वोल्टेज वाले एलईडी लाइट जलाने के लिए पर्याप्त हैं |
7. आप यह जानकर हैरानी होगी, कि हमारे चेहरे पर दिखाई देने वाली झुर्रियां मानव दिमाग को और भी तेज बनाती है. मस्तिष्क की सतह को प्रमस्तिष्क आवरण (cerebral cortex) के रूप में जाना जाता है, जिसमें कुछ जटिल गहरी दरारें होती हैं | कुछ छोटे खांचे होती हैं, जिन्हें “सुल्सी” (sulci) के रूप में जाना जाता है और धब्बे रूपी उभार होते हैं, जिन्हें “गयरी (gyri) के रूप में जाना जाता है |  इसके साथ ही यह लगभग 100 अरब तंत्रिका या न्यूरॉन कोशिकाओं का घर है |

से भी पढ़े :- दुनिया के कुछ सबसे महंगे होटल, वन नाइट रुकना मर्सिडीज से भी महंगा 

8. क्या आप जानते हैं,  कि मस्तिष्क में ज्यादातर, कोशिकाएं न्यूरॉन्स नहीं हैं? न्यूरॉन्स केवल 10% मस्तिष्क कोशिकाएं ही बनाती हैं, जबकि 90% मस्तिष्क कोशिकाएं “ग्लिया” बनाती है, जिसे ग्रीक में “ग्लू” कहा जाता है |  न्यूरोसाइंटिस्ट के मुताबिक “ग्लिया” (glia) एक चिपचिपाहट वाला पदार्थ है,  जो न्यूरॉन्स को एक साथ जोड़े रखता हैl 2005 ईस्वी में जर्नल ऑफ न्यूजबायोलॉजी पत्रिका के एक पत्र में इन ग्लिया कोशिकाओं की भूमिका के बारे में बताया है, जो गुणसूत्रीय संयोजन की वृद्धि और क्रियाकलाप को बढ़ावा देने के लिए, उसके विकास के क्रम में उन्हें सुरक्षा प्रदान करते हैं |
9. कई बार हम लोगों के मुख से बाएं दिमाग या दाएं दिमाग की बात सुनते हैं, जोकि गलत हैl हमारे शरीर में सिर्फ और सिर्फ एक ही दिमाग होता है |
10. हमारे दिमाग के लिए एक साथ बहुत सारे कार्य करना असंभव हैl सामान्यतया, हमें बहु-कार्य (multi-tasking) करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है, लेकिन वास्तव में एक ही समय में विभिन्न कार्यों को करना उचित नहीं होता है. “ब्रेन रूल्स” नामक किताब में यह समझाया गया है, लेकिन कि एक साथ बहुत सारे कार्य करना (multi-tasking) कैसे हानिकारक हो सकता है. अनुसंधान से पता चलता है कि एक साथ बहुत सारे कार्य करने (multi-tasking) से हमारी त्रुटि दर 50 प्रतिशत बढ़ जाती है और हमें काम करने में दोगुना समय लगता हैै | जब brain दो कामों को एक बार में करने की कोशिश करता है, तो यह प्रत्येक कार्य के लिए बुद्धि के half भाग को काम बांटता है और उसे पूरा करता है |
friends आपको यह post कैसी लगी comment करके बताएं | और इस तरह की post पढ़ने के लिए इसे अपने दोस्तों में ज्यादा से ज्यादा share करें और लाइक करना ना भूलें |

7 Comments on “मानव मस्तिष्क के रहस्य और मानव मस्तिष्क जानकारी | top 10 mysteries of the human mind.”

  1. बहुत सार्थक जानकारी दी गई है। लेकिन आपने कोंसियास और अंकोसियस मस्तिष्क के बारे में वर्णन नही किया। जिसको जाग्रत और सुषुप्त मस्तिष्क का नाम बी दिया गया है। जाग्रत की कोशिकाये किसी घटना को जल्दी भुला देती हैं जबकि सुषुप्त कोशिकाये कभी भुलाती नही और उस कार्य को करने के लिए प्रेरित करती रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *