“ऐसा था हमारा जमाना”

 

“ऐसा था हमारा जमाना”

1990 से पहले जन्म लेने वाले जरुर पढ़े बहुत अच्छी फीलिंग आयेगी।

  • हम लोग जो 1947 से 1990 के बीच जन्में है।
  • हमारें माता- पिता को हमारी पढाई को लेकर कभी अपने programs आगे पीछे नही करने पड़ते थे!
  • स्कूल के बाद हम देर सूरज डूबने तक खेलते थे।
  • हम अपने real दोस्तों के साथ खेलते थे,online फेसबुक फ्रेंड्स के साथ नही।
  • जब भी हम प्यासे होते थे तो नल से पानी पीना safe होता था,और हमने कभी mineral water bottle को नही ढूँढा ।
  • हम कभी भी चार लोग गन्ने का जूस उसी गिलास से ही पी करके भी बीमार नही पड़े ।
  • हम एक प्लेट मिठाई और चावल रोज़ खाकर भी बीमार नही हुए ।
  • नंगे पैर घूमने के बाद भी हमारे पैरों को कुछ नही होता था ।
  • हमें healthy रहने के लिए Supplements नही लेने पड़ते थे।
  • हम कभी कभी अपने खिलोने
    खुद बना कर भी खेलते थे ।
  • हम ज्यादातर अपने parents के साथ या grand- parents के पास ही रहे ।
  • हम अक्सर 4/6 भाई बहन एक जैसे कपड़े पहनना शान समझते थे…Common वाली नही, एकता वाली feelings..enjoy करते थे
  • हमारे पास न तो Mobile,laptops,PC, Internet, chatting नही थे क्योंकि हमारे पास real दोस्त थे।
  • हम दोस्तों के घर बिना बताये जाकर मजे करते थे और उनके साथ खाने के मजे लेते थे। कभी उन्हें कॉल करके appointment नही लेना पड़ता था।
  • हम एक अदभुत और सबसे समझदार पीढ़ी है क्योंकि हम अंतिम पीढ़ी हैं जो की अपने parents की सुनते हैं,और साथ ही पहली पीढ़ी जो की अपने बच्चों की सुनते हैं ।

“We were not special but,We were enjoying the Generation”

ये भी पढ़े:-👇👇

“दोस्तो आपको हमारा पोस्ट कैसा लगा? आप कमेंट कर के ज़रूर बताये,आपकी राय हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है।”

आपका अपना साथी आस मौहम्मद।”

11 Comments on ““ऐसा था हमारा जमाना””

  1. भाई आस, बचपन सदा ही स्वर्णिम जीवन होता है |ये चाहे पिछली पीढ़ी का हो या आने वाली पीढ़ी का |सभी को अपना बचपन अच्छा ही लगता है |

  2. वेरी नाइस वेरी नाइस मोहब्बत साहब आपने बहुत ही अच्छी कहानी लिखी है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *