यकृत को जानें,विश्व यकृत दिवस मनाने से पहले।

यकृत को जानें,विश्व यकृत दिवस मनाने से पहले।

 

 

यकृत :- यकृृृत को जानेेंं विश्व यकृत दिवस मनाने से पहले। दोस्तो हमें पता है कि 19 अप्रैल को विश्व यकृत दिवस मनाया
जाता है, लेेेकिन इससे पहले यह जानना जरूरी है कि यह (लिवर) हमारे शरीर का कितना महत्वपूर्ण अंंग है। पाचन क्रिया को
दुुुरस्त बनाने मेंं इसका महत्वपूर्ण योगदान होता है।अगर हमारा यकृत ठीक नहीं, तो हम भी स्वस्थ नहीं। इसलिए इस अंग
की देखभाल करना हमारे लिए अत्यंंत जरूरी है। खाया ,पिया, पचाया  वाली कहावत तभी चरितार्थ हो सकती है,जब हम
अपने इस अंंग की खूब अच्छेे तरीके से देखभाल करते हैैं। तो दोस्तो चलिए इसके बारे मेें और महत्वपूर्ण जानकारियाँ लेते हैं।

 

यकृत क्या करता हैै ?

(1) शरीर केे जितने भी विषैैले पदार्थ होते हैं,उनको बाहर निकालने में यह महत्वपूूर्ण भूमिका निभाता है।
(2) ब्लड शुुगर को नियंंत्रित करता है।
(3) शरीर मेें होने वाली बीमारियों और संक्रमण से हमें सुरक्षित रखता है।
(4) पित्ताशय सेे पित्त(बाइल जूूूस) को निकालने में मदद करता है, जिससे हमारे शरीर द्वारा लिया गया फैट(वसा) आसानी
       से पच जाता है।
(5) अगर शरीर से निकलने वाला रक्त बंद न हो, तो इंंसान की जान भी जा सकती है। इसलिए रक्त का थक्का बनाने में यह
       मदद करता है।
(6) कोलेस्ट्रोल के लेवल को नियंत्रित करता हैै।

 

 

यकृत को कैसे दुुुरस्त रखा जाए।

(1) अपने तनाव को कम करें।
(2) यदि इसको स्वस्थ रखना है, तो नियमित दिनचर्या का पालन करें।
(3) नियमित रूप से व्यायाम करें।
(4) वजन को नियंत्रित रखें।
(5) धूूम्रपान, एल्कोहल,ड्रग्स का सेवन न करें। ये इसकी कोशिकाओंं को नष्ट कर देते हैं।
(6) हानिकारक रसायन(केमीकल) शरीर केे अंदर न पहुँचने दें।
(7) डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी प्रकार की दवा का सेेेवन न किया जाए।
(8) इससेे संंबन्धित बीमारी से बचाव के लिए टीकाकरण जरूर करवाएँ।

 

 

(9) टीकाकरण करवाकर हेपेटाइटिस बीमारी से बचा जा सकता है।
(10) मोटा अनाज जैैसे बाजरा कूटू का आटा इत्यादि को नियमित उपयोग मेंं लाएँँ।
(11) हरी सब्जियाँ अपने नियमित आहार में जरूर शामिल करें।
(12) हरी चाय(ग्रीन टी) व नींंबू का अवश्य सेवन करेें।
(13) अखरोट व लहसुुन का सेवन इसको स्वस्थ रखने केे लिए अवश्य करेें।
(14) प्रोटीन व वसायुक्त खाद्य पदार्थों का अवश्य सेवन करें।
(15) मौसमी फलों का सेवन करें।
(16) जैतून का तेल इसके लिए अत्यंत लाभकारी है।
दोस्तो यह जानकारी आपको कैसी लगी ? अवश्य बताएँ।
                                                                                                            धन्यवाद

2 Comments on “यकृत को जानें,विश्व यकृत दिवस मनाने से पहले।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *