महाभारत: श्री कृष्ण सहित तमाम पांडवो को पराजित कर सकता था ये योद्धा

महाभारत : श्री कृष्ण सहित तमाम पांडवो को पराजित कर सकता था ये योद्धा

महाभारत

नमस्कार दोस्तो
महाभारत :- हम आपको महाभारत के ऐसे योद्धा से अवगत कराने जा रहे है, जो एक साथ 72000 योद्धा से लड़ सकता था । महाभारत का  यद्ध धर्म का युद्ध थायुद्ध में जब आखरी दिन था जब दुर्योधन मरणासन पर परा था तब श्रीकृष्ण उकसे पास गये।

कृष्ण ने उस समय उसकी गलती या बताई । अगर वो यद्ध में ये गलती या न करता तो वो महाभारत का युद्ध जीत सकता था।

यद्ध के पहले दिन  से दसवें दिन तक कर्रोवो के सेनापति महामहिम भीष्म रहे थे। वही ग्यारवें से पन्द्रवा दिन तक गुरु धृणाचार्य सेनापति रहे थे। लेकिन उनको मरने के बाद कर्ण को सेना पति बनाया गया। ओर दुर्योधन ने यह पे सबसे बड़ी गलती की ।

क्योंकि कर्रोव सेना में स्वयं भगवान शिव के  अवतार मौजूद थे जो समस्त सुस्त्री के संघारक है।  अश्वस्थामा रुद्र अवतार था। ओर सोल्व दिन दुर्योधन को अश्वस्थामा को सेनापति बनाना चाहिए था।

साथ ही उस अश्वस्थामा को क्रोधित भी करवाना चाहिए था । अगर दुर्योधन ने एशा किया होता तो  कर्रोव ही महाभारत का युद्ध जीत जाते। कर्पचार्य अकेले  एक समय मे 7200 योद्धा ओ का सामना कर सकते थे।

लेकिन उनका भांजा कृपक की बहन कृपी अश्वस्थामा की माता थी ।  अश्वस्थामा 72 हज़ार योद्धा ओ से लड़ सकता था। परसुराम , दुर्वासा , व्यास , भीष्म , कर्पचार्य , धृणाचार्य से युद्ध कला सीखी थी ।

अश्वस्थामा भगवान कुष्ण के समान 64 कला और 18 विद्याओ में पारंगत था। युद्ध के अठावरी रात्रि में  दुर्योधन ने अश्वस्थामा को सेनापति बनाया। उसने ऊलू ओर कौव्वों से सलाह किया  और युद्ध मे बचे लाखो सेनाओ  ओर पांडु पुत्रो को मौत के गात उतार दिया।

तो दोस्तो ये था एक छोटासा इनफार्मेशन । तो पोस्ट अच्छी लगे तो लाइक ओर शेयर जरूर करे। धन्यवाद।

About Aakash khalasi

i am khalasi aakash , i am complet diploma electrical engineering ,and treing in torrent power,but not intrest in compney ,my intrest is writing,so i am live frome surat,

View all posts by Aakash khalasi →

6 Comments on “महाभारत: श्री कृष्ण सहित तमाम पांडवो को पराजित कर सकता था ये योद्धा”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *