महिला सुरक्षा- आज की आवाज

महिला सुरक्षा-आज की आवाज

नमस्कार दोस्तो, कैसे है। आप सब , आज मैं आपसे बहुत ही महत्वपूर्ण मुद्दे पर बात करने वाली हुं।आशा है। आप सभी को पसंद आयेगी।

अगर  आपको ये पोस्ट पसंद आये ,तो इसे शेयर व कमेंट करना ना भूले।

महिला सुरक्षा-महिला सुरक्षा हमारे देश का सबसे बडा मुद्दा बनता जा रहा हैं।


हमारे देश की आधी जनसंख्या महिलाओ की है।”

ओर आज वही शारिरिक व मानशिक रूप से पिडित है।”

“पुराने समय की बात करें तो महिलाओ को  देवी का दर्जा दिया गया था।,ऐसा कहा जाता था कि जिस घर मे महिलाओ की पुजा होती है। वहां देवता निवास करते है।”

“21 वीं सदी की बात करें तो बहुत ही नाजुक हालात हैं।, भारत मे गुजरते हुए हर एक पल मे महिला का हर  स्वरूप  शोषित हो रहा है। ,चाहे वो मां हो बेटी या बहन हो या फिर 7  साल की एक नाबालिक लडकी ही क्यों ना हो। हर  जगह महिलाओ के साथ छेडछाड की जाती है। ,सार्वजनिक स्थल , रेल, बस स्टेण्ड, बाजार, राहो मे, गलियो मे हर जगह । इस से हम कह सकते है। कि महिलांये कही भी सुरक्षित नही है।”

स्कुल व काॅलेज जाने वाली लडकिया भय के साये मे जी रही है।  सिर से लेकर पैर तक कपडे पहनने को मजबूर है।

“इस से भी अजीब बात ये है। ,कि कई जगह पैसो के लालच मे मा- बाप ही अपनी बेटी को बेच देते है। लडकियो पर तेजाब फेंकना, अपहरण करना ये तो आम बात हो गयी है।”

आंकडो के अनुसार भारत मे हर 20  मिनट मे बलात्कार की धटना होती है। यह बहुत ही शर्मनाक है।

“हमारी संस्र्कति को शर्मसार करती है,ऐसी घटनाऐं।”

“गांवो की स्थिति इस से भी खराब है।, वहा ऐसी घटनाओ मे दोषी कई बार कोई जान पहचान वाला ही निकलता है।”


“दहेज के लिए लडकी को सास- ससुर व्दारा पिटा जाना ये तो जैसे आम बात है। वहां।, महिलाये देश के विकाश मे आधी हकदार  है।ओर उनके साथ ऐसे कुकर्म होना बहुत ही शर्मनाक है।”

महिला सुरक्षा से जुडे कुछ सुझाव-

1.सबसे पहले उन्हे आत्म- रक्षा करनी सिखानी होगी।उनके मनोबल को ऊंचा करने की जरूरत है।, ताकि वो हर परिस्थिति का डटकर सामना कर सकें।

2. अगर ऊन्हे कही भी जाते समय कुछ भी गडबडी की आशंका लगती हो, तो उस समय कठोर कदम उठाना चाहिए।

3.  महिलाओ को हमेशा अपने साथ अपनी आत्म रक्षा का सामान रखना चाहिए।

4. कही भी किसी के साथ अकेले किसी होटल मे नही ठहरना चाहिए।

5 “कभी भी महिला को षुरूष से अपने आपको कम नही समझना चाहिए।, चाहे शारिरिक हो या मानशिक वो हर तरिके से समर्थ है।”

निष्कर्ष: “महिलाओ की सुरक्षा एक सामाजिक मसला है। ,जिसे जल्द से जल्द सुलझाने की जरुरत है। ये सिर्फ सरकार के कानुन बनाने या लागू करने से नही सुधरेगी बल्कि हर आम आदमी का फर्ज है। उन्हे अपनी सोच ओर विचारो को बदलने की जरूरत है।”

“नजर बदलो ,नजारे अपने आप बदल जायेंगे।”

धन्यवाद:)

Writer-Ravina arya✌✌

 

 

4 Comments on “महिला सुरक्षा- आज की आवाज”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *