धरती में पेड़ पौधों की क्या जरूरत है?

धरती में पेड़ पौधों की क्या जरूरत है? 

धरती में पेड़ पौधों की क्या जरूरत है? दोस्तों इस लेख में,

आपको यह जानकारी देने की भरपूर कोशिश की जाएगी।

हो सके तो आप लेख में बने रहिएगा और हो सके

तो इस लेख को पढा लिखा होने की वजह से पूरा पूरा पढिएगा जरूर।

इस लेख का मुख्य उद्देश्य है यह बताना कि धरती में पेड़ पौधों की क्या जरूरत है?

दोस्तों, धरती में पेड़ पौधों की क्या जरूरत है? इस

सवाल का जवाब जानने के पहले इसे जानिए ::

🔵इस समय पूरी धरती के 31% भू भाग में वन हैं,

🔵सर्वाधिक वन क्षेत्र के मामले में पूरी दुनिया में भारत का 10 वां स्थान है।

🔵जहां तक बात पूरी धरती की बात है इसका एक चौथाई भाग वन युक्त है, 

🔵यानी धरती के एक चौथाई भाग में जंगल हैं।

🔵वैज्ञानिकों और पर्यावरण विदों का निष्कर्ष है कि 100 साल बाद वर्षा वन खत्म हो जाएंगे।

🔵इस समय जिस गति से धरती से पेढ काटे जा रहे हैं, इसके फलस्वरूप,

🔵एक अनुमान है कि 2025 तक 28000 वन्य जीव प्रजातियां विलुप्त हो जाएंगी।

🔵आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि संसार में हर मिनट,

🔵इतनी जगह से जंगल काट कर फेंक दिए जाते हैं जिस में 27 फुटबाल फील्ड बन सकती हैं।

🔵दुनिया में हर साल 70 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल से जंगल खत्म कर दिए जाते हैं,

🔵फलस्वरूप 60 लाख हेक्टेयर कृषि भूमि बढ़ जाती है। 

धरती और हरियाली की हकीकत

धरती और आज की हकीकत यह है कि हमने या आप सबने धरती को धरती ही नहीं रहने दिया।

जो धरती आज से कुछ साल पहले हरी भरी और जीवन दायिनी लगती थी,

वही,धरती हमारी ही वजह से आज कंक्रीट का जंगल बन गई है।

हमारी बढती हुई कृषि एवं औद्योगिक जरूरतों के कारण और साथ ही साथ,

जनसंख्या वृद्धि, गरीबी, जमीन रहित लोग और

उपभोक्ता मांग जैसे कई कारणो की ववजह से जंगल लगातार घट रहे हैं।

खाद्य एवं कृषि संगठन की 2016 की रिपोर्ट के

मुताबिक हर साल 3.5 अरब से 7अरब के बीच पेड़ काटे जाते हैं।

इसमें सबसे ज्यादा 37%हिस्सेदारी इमारती लकड़ी की होती है। 

बढती आबादी जंगल और जलवायु 

बढती आबादी जंगल और जलवायु का मतलब यह है कि,

इस समय दुनिया की आबादी सात अरब का भी आंकड़ा पार कर चुकी है।

इतना ही नहीं 2050 ई तक धरती की आबादी 9 नौ अरब हो जाने की संभावना है।

इस समय धरती का कुल 31 फीसदी हिस्सा वनों से आच्छादित है।

लेकिन इसका तेजी से घटना अत्यंत ही दुखद घटना है।

यह तो जंगल की बात है लेकिन यदि हम जंगल और जलवायु की बात करें,

तो इनका मानव हित में काम करना अतुलनीय है।

जंगलों से बहुत सारे प्रत्यक्ष लाभों के अलावा भी कुछ परोक्ष लाभ हमें मिलते हैं।

हमारी धरती के लिए हानिकारक कार्बन को यह

पौधे कार्बन डाई ऑक्साइड के रूप में आसा से अवसोशित कर लेते हैं।

🔵एक आकलन के मुताबिक दुनिया के कुल जंगलों में 283 गीगा टन कार्बन जमा है।

यह मात्रा वायुमंडल में  मौजूद कार्बन के मुकाबले 50% अधिक है।

इसका मतलब यह हुआ कि जितना कार्बन पूरी

दुनिया का यातायात पैदा नहीं करता उससे कहीं ज्यादा कार्बन जंगल के काटने से होता है। 

अब इतना कुछ जानने समझने के बाद क्या आप बता सकते हैं कि,

धरती में पेड़ पौधों की क्या जरूरत है?

जी हां मुझे विश्वास है कि अब आप जान गए होंगे कि धरती में पेड़ पौधों की महत्ता है। 

 

धन्यवाद

KPSINGH12072018

 

 

 

 

 

 

 

 

About kpsingh

मैने बचपन से निकल कर जीवन की राहों में आने के बाद सिर्फ यही सीखा है कि "जंग जारी रहनी चाहिए जीत मिले या सीख दोनों अनमोल हैं" मैं परास्नातक समाज शास्त्र की डिग्री लेने के अलावा CTET और UP TET परीक्षाएं पास की हैं ।मैंने देश के हिन्दी राष्ट्रीय समाचार पत्रों और पत्रिकाओं में लेखन किया है जैसे प्रतियोगिता दर्पण विज्ञान प्रगति आदि ।

View all posts by kpsingh →

3 Comments on “धरती में पेड़ पौधों की क्या जरूरत है?”

  1. धरती पर पेड़ पौधे नहीं होंगे तो मनुष्य और जीव जंतु और पानी बाकी के कैसे जिएंगे धरती पर पेड़ पौधे होना बहुत ही जरूरी है यही एक रूप है जो धरती का पेड़ पौधों से मिलता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *