नौकरी मिलने पर सबसे पहले क्या करें?

नौकरी मिलने पर सबसे पहले क्या करें? 

नौकरी मिलने पर सबसे पहले क्या करें? 

इस हेडिंग को पढकर आप बिना देरी के यही कहेंगे कि पहले नौकरी  तो लग जाए,

फिर वह भी जान लेंगे कि हमें नौकरी मिलने के बाद सबसे पहले क्या करना चाहिए।

दोस्तों कुछ लोग तो इसे मजाक भी समझ सकते हैं और यह भी कह सकते हैं कि

नौकरी मिलने पर सबसे पहले अपना वेतन आपको दे देंगे।

तो कुछ लोग इसे और बड़ा मजाक समझकर यह भी कह सकते हैं कि

नौकरी मिलने के बाद छोकरी की तलाश करेंगे।

लेकिन दोस्तों याद रखना यह कोई मजाक नहीं है और न ही मैं आप से मजाक करना चाहता हूं।

अगर मैं सच में कुछ करना ही चाहता हूं तो वह यही है कि हैं आपको

दुनिया के सामने मजाक बनने से रोकना चाहता हूं। आप कहेंग कैसे?

तो मेरा जवाब है कि पहले यह संदर्भ सहित प्रसंग पढो फिर

आपको खुद पता चल जाएगा आखिर कैसे? 

मेरे दोस्त की कहानी मेरी जबानी 

नौकरी मिलने पर सबसे पहले क्या करें?

इस सवाल का जवाब आपको मेरी इस कहानी में जरूर मिल सकता है।

इस लिए अगर आपको नौकरी मिलने पर सबसे पहले क्या करें का जवाब चाहिए तो जरूर पढें।

मेरा एक मित्र है अरविंद।

अरविंद पढने में ठीक होने की वजह से जल्द ही वोडाफोन में

ऐज ए एरिया मैनेजर ज्वाइन हो गया था।

अरविंद मूलतः साफ्टवेयर इंजीनियर था इसलिए उसकी सेलरी भी काफी अच्छी थी, 

मगर इससे भी बड़ी बात यह भी थी कि अभी उसकी शादी नहीं हुई थी।

शादी नहीं हुई थी यह बात यहां महत्वपूर्ण थी क्योंकि इसी वजह से वह

पहली बात तो मस्तमौला था, पैसे की तरफ से निश्चिंत था।

इसी वजह से वह पैसे की वैल्यू भी उतनी नही कर पाता था

जितनी कोई जरूरत मंद इंसान करता है।

खैर पैसा आता गया और वह खर्च भी होता गया।

कभी अपने पर  तो कभी दूसरे पर कभी अपनी जरूरत पर तो

कभी घरवालों की जरूरत पर।

लेकिन एक बात कभी नहीं हुई जो सबसे पहले होनी चाहिए थी और वह बात थी बचत की।

अरविंद को लगता था कि अभी तो शादी भी नहीं हुई बचत करके अभी क्या करेंगे. 

और फिर अभी तो सारी जिंदगी पड़ी है बचत करने के लिए।

इन्हीं सब सही गलत कारणों से श्री मान अरविंद कभी बचत नहीं कर पाए।

सब कुछ हर तरह से सही चल रहा था अरविंद जी की जिंदगी में

लेकिन यह क्या! एक दिन अचानक ही सब कुछ बदल गया ।

इधर मुकेश अंबानी जी ने जियो की घोषणा की और

उधर ही बाकी सभी कंपनियों की हालत खस्ता और कर्मचारियों की हालत बद से बदतर।

सभी की नौकरियों पर असर हुआ, काम पर असर हुआ और सबसे बड़ा असर यह हुआ कि

पैसे की आवक अचानक बंद हो गई।

आज अरविंद जी के दोस्त पार्टी के लिए उन्हें याद तक नहीं करते

क्योंकि अब पैसे का इंतजाम नहीं है।

और तो और मां बाप घर वाले भी अब उन्हें नाकारा और फालतू मानना गलत नहीं समझते।

कुल मिलाकर आज हालात यह हैं कि अरविंद जी को किसी हल्की फुल्क नौकरी की तलाश है।

नौकरी लगते ही करें यह काम 

नौकरी मिलने पर सबसे पहले क्या करें?

दोस्तों, मुझे पूरा विश्वास है कि आप अरविंद कतई नहीं बनना चाह रहे होंगे।

सच कहें तो बुद्धिमानी आपकी इसी में है कि आप कभी दूसरा अरविंद बनने की कोशिश न करें ।

लेकिन यहां भी एक गम्भीर सवाल उठता है कि

आखिर हमें नौकरी मिलने के बाद ऐसा कौन सा काम सबसे पहले करना चाहिए

ताकि अगर कभी अरविंद के जैसे नौकरी में खतरा भी हो गया तो

आपकी जिंदगी में कोई बहुत बड़ी उथल पुथल न मचे।

इसके लिए सबसे कारगर उपाय यह है कि आप को नौकरी मिलने के बाद ही

बचत और निवेश के बारे में सोचना चाहिए।

और अपनी भविष्य की जरूरतों के मुताबिक तत्काल

बचत करना प्रारंभ कर देना चाहिए ।

आज का युवा वर्ग बचत के बारे में कभी नहीं सोचता

और अगर सोचता है तो बहुत देर से सोचता है। 

बचत और निवेश 

आज कोई भी नौजवान व्यक्ति जब नौकरी प्रारंभ करता है तो

आमतौर पर वह 30 /35 हजार रुपये मासिक पा ही जाता है।

क्योंकि 7वें पे कमीशन ने सेलरी को काफी तार्किक और व्यवस्थित कर दिया है।

एक और बात, अगर इतना वेतन किसी को शादी

केपहले तीन चार साल तक भी मिलता रहे तो आर्थिक दृष्टि से

यह साधारण बात नहीं होती।

इस समय नौकरी करने वाले नौजवान को थोड़ा बुद्धि से काम लेना चाहिए और

शौक शान सौकत सभी पर बेलगाम होने से बाज आना चाहिए।

रही बात घर या घरवालों की तो एक बात सदा याद रखें कि जब तक आप मजबूत नहीं होंगे

तब तक घरवालों के साथ साथ पूरी दुनिया आपको  न सही मानेगी

और न ही आप किसी के लिए कुछ भी करने में सक्षम होंगे।

कहने का असली मकसद यही है कि आपको अपनी जरूरत को भी

कुछ समय के लिए नजर करके एक बेहतर निवेश विकल्प की शुरुआत कर देनी चाहिए।

याद रखिए जो व्यक्ति  अपनी जिंदगी की शुरुआत में ही मौज मस्ती कर लेता है

तो वह बाकी जिंदगी में परेशानियों से घिरा रहता है।

दूसरी तरफ जो व्यक्ति अपनी जिंदगी की शुरुआत में जरा सा कष्ट उठा लेता है, 

वह पूरी जिंदगी ऐशो आराम से गुजारता है। 

कैसे और कहां करें निवेश 

जब भी आप निवेश करें तो कोशिश यही करें कि जब तक आपकी पारिभाषित जरूरतें कम हैं

तब तक आप सांस रोक कर,

कंजूस का खिताब मिले तो उसे भी शौक से लेकर बस निवेश के बारे में सोचें।

इसके लिए सबसे आदर्श स्थिति यह है कि आप हर

महीने अपने वेतन में से पांच या छह हजार रुपये बचत के लिए निकालें।

शायद इस बात से अधिकतर लोग अनजान होते हैं कि वह जितनी ही

कम उम्र में निवेश प्रारंभ करते हैं उतना ज्यादा अच्छा होता हैै।

क्योंकि जितनी कम उम्र होती है निवेश जैसे बीमा उतना ही सस्ता होता है।

आपको दस लाख का बीमा यदि 25 साल में कराना है तो बीस हजार सालाना प्रीमियम लगता है

लेकिन जब यही बीमा 40 साल में करवाते हैं तो छमाही 40 लाख का प्रीमियम लगता है।

अब आप खुद समझ सकते हैं कि कम उम्र और ज्यादा उम्र के निवेश में क्या अंतर होता है।

नौकरी मिलने पर सबसे पहले क्या करें?

इस प्रश्न का सबसे सही जवाब यही है कि नौकरी जैसे ही किसी को मिले तो

सबसे पहले मौजमस्ती की बजाय बचत और निवेश के बारे में ही सोचना चाहिए।

अगर आप ऐसा नहीं करते तो अरविंद जी के बाद हैरान परेशान लोगों में अगला नाम

आपका हो सकता है इस बात को भी याद रखें। 

धन्यवाद

के पी सिंह किर्तीखेड़ा 08102018

About KPSINGH

मैने बचपन से निकल कर जीवन की राहों में आने के बाद सिर्फ यही सीखा है कि "जंग जारी रहनी चाहिए जीत मिले या सीख दोनों अनमोल हैं" मैं परास्नातक समाज शास्त्र की डिग्री लेने के अलावा CTET और UP TET परीक्षाएं पास की हैं ।मैंने देश के हिन्दी राष्ट्रीय समाचार पत्रों और पत्रिकाओं में लेखन किया है जैसे प्रतियोगिता दर्पण विज्ञान प्रगति आदि ।

View all posts by KPSINGH →

One Comment on “नौकरी मिलने पर सबसे पहले क्या करें?”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *