विद्यार्थी के लक्षण

विद्यार्थी के लक्षण


*विद्यार्थी के पांच लक्षण होते हैं।*

१. काग चेष्टा-(कौवे की तरह चंचल होना )

*जिस प्रकार का हुआ हर वक्त कांव-कांव करते रहता है ठीक उसी प्रकार विद्यार्थी को भी बार बार अध्ययन करते रहना चाहिए।*

२. वको ध्यानम्- (वगुले की तरह ध्यान ध्यान केंद्रित करना)

*जिस प्रकार बगुला जल से मछली को पकड़ने के लिए ध्यान को एकत्र करके रखता है उसी प्रकार विद्यार्थी को भी पढ़ाई के ऊपर अपना ध्यान केंद्रित रखना चाहिए।

३. सोम निद्रा-(कुत्ते की भांति सोना)

*जिस प्रकार कुत्ता जरा सी आवाज से  उठ जाता है उसी प्रकार विद्यार्थी को भी उठना चाहिए और फिर अध्ययन करना चाहिए।*

४. अल्पाहारी- (हल्का भोजन करने वाला)

*विद्यार्थी को हमेशा हल्का भोजन नहीं करना चाहिए, ज्यादा खाने से नींद आती है।

५. गृहत्यागी- (घर से दूर रहना)ट

*विद्यार्थी को ज्यादातर घर से दूर रहकर एकांत मे ही अध्ययन करना चाहिए।*

 


 

About Puja Kumari

I am Pooja Kumari And a housewife from Naya Bazar Kushwah Golaghat Bhagalpur Bihar

View all posts by Puja Kumari →

2 Comments on “विद्यार्थी के लक्षण”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *