आखों की समस्या और समाधान eye problems and treatment

आंखों  की समस्या और समाधान  Eye problems and treatment

आंखों की समस्या :-

            दोस्तों नमस्कार, आज की इस पोस्ट में हम आंखों की समस्या और उसके समाधान के बारे में जानेंगे।

आंखों की समस्या के लक्षण:-

आंखों से कम दिखना, जलन का होना, आंखों से पानी टपकना,आंखें भारी होना, आंखों में दर्द होना आदि ।

 कारण :-

  1. मस्तिष्क की उष्णता तथा निर्बलता से आंखें कमजोर हो जाती है।
  2. ज्यादा पढ़ने से भी  आंखें कमजोर हो जाती हैं।  बहुत कम रोशनी में भी पढ़ने से आंखें कमजोर हो जाती है। बहुत तेज रोशनी में भी पढ़ने से आंखों पर बुरा असर पड़ता है।
  3. पेट की खराबी से भी आंखें कमजोर हो जाती हैं ।
  4. पलकों की अनुचित क्रिया आंखें अधिक खोलकर या घूर कर देखने से भी आखें कमजोर हो जाती है ।
  5. डर, चिंता, क्रोध व शारीरिक असुविधाओं से आंखें कमजोर हो जाती हैं ।
  6. कामवासना की अधिकता से भी आंखें कमजोर हो जाती है।
  7. बिना आवश्यकता के चश्मे लगाने से आंखें कमजोर हो जाती है।
  8. पौष्टिक भोजन के अभाव में भी आंखें कमजोर हो जाती है ।
सदा कब्ज रहने से भी आंखें कमजोर हो जाती है 

 आंखों के लिए लाभकारी व्यायाम:-

                     खड़े हो जाएं आंखों की पुतली को जितना ऊपर नीचे ले जा सके ले जाएं फिर दाएं और बाएं ले जाएं फिर चारों तरफ घुमाएं  यह तीनों व्यायाम प्रारंभ में कम से कम 10 बार करें और धीरे-धीरे बढ़ाते हुए 21 बार तक ले जाएं।  इस व्यायाम के बाद आंखों को कुछ देर तक दोनों हाथों से इस प्रकार बंद करें कि उन पर हाथों का दबाव न पड़े। इसके बाद छोटी मक्खी का शुद्ध शहद जस्त की सलाई के द्वारा आंखों में डालकर 10 मिनट तक सुबह सूर्य के सामने बैठे ।इसके बाद रात्रि को मिट्टी के कोरे पात्र् में भिगोकर  रखे हुए त्रिफला के जल से आंखों को धो लें फिर कुछ देर तक आंखों को हाथ से बंद रखें ।

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए घरेलू समाधान :-

  1. अगर आपकी आंखों में जलन हो रही है तो आप गुलाब जल से आंखें साफ कर सकते हैं। रुई के दो बड़े टुकड़े लीजिए तथा इन्हें गुलाब जल में डुबोकर आंखों पर रखें इससे आंखों की जलन दूर होगी। अगर आंखों की तकलीफ की वजह से सिर दर्द भी रहता है तो भी यह प्रयोग लाभदायक रहेगा। इससे सिर दर्द भी दूर होगा।
  2. अगर आपकी आंखों में परेशानी है तो दालचीनी वाली चाय पीना भी आपके लिए लाभदायक रहेगा। दालचीनी वाली चाय नसों में आ चुके तनाव को कम करने में सहायक होती है।
  3. सुबह उठ कर मुंह में पानी भरकर आंखें खोलकर साफ पानी के छींटे आंखों में मारने चाहिए इससे आंखों की रोशनी बढ़ती है।
  4. आंखों की रोशनी तेज करने के लिए अपनी डाइट में प्याज और लहसुन को जरूर शामिल करें। इनमें सल्फर सल्फर होता है जो आंखों के लिए ब्लूटूथ आई नामक एंटीआक्सीडेंट तैयार करता है जिससे आंखों की रोशनी बढ़ती है।
  5. 10 ग्राम छोटी हरी इलायची , 20 ग्राम सौंफ के मिश्रण को बारीक पीस लें एक चम्मच चूर्ण को दूध के साथ नियमित रूप से पीने से आंखों की रोशनी अवश्य बढ़ती है ।
  6. अनार के 5से 6 पत्तों को पीसकर दिन में दो बार लेप करने से दुखती आंख में लाभ होता है और रोशनी भी बढ़ती है।
  7. सूखे आंवले को रात में भिगोकर रख दे फिर दिन में तीन बार इससे रुई से आंखों में डालें और आंवले का ज्यादा से ज्यादा किसी न किसी रूप में अपने खाने-पीने में अवश्य ही प्रयोग करें। 3 माह के अंदर ही चश्मा उतर जाएगा ।
  8. एक चम्मच मुलेठी का पाउडर, एक चम्मच शहद और आधा चम्मच देसी घी इन तीनों को मिलाकर एक गिलास दूध के साथ सुबह शाम लगातार 3 महीने तक लेने से आंखों की रोशनी बढ़ती है।
  9. आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए रोजाना एक से दो गाजर खूब चबा-चबाकर खाएं। गाजर का रस निकाल कर भोजन के 1 घंटे बाद भी नियमित रूप से पियेे।
  10. अंगूर के सेवन से रात में देखने की क्षमता बढ़ती है ।
  11. नजर तेज करने के लिए एक कटोरी में एक चाय का चम्मच गाय का घी लेकर उसमें एक चौथाई चम्मच काली मिर्च का पाउडर मिलाएं इसका नित्य प्रातः सेवन करने से आंखों की रोशनी तेज होती है।
  12. रोजाना एक चम्मच शहद खाने से भी आंखों की रोशनी ठीक रहती है ।लेकिन ध्यान रहे शहद शुद्ध होना चाहिए।
  13. मूंग की दाल भी नेत्रज्योति को स्वस्थ बनाए रखती है।
  14. प्याज को दबाकर निकालें रस में थोड़ा सेंधा नमक डालकर आंखों में टकराने से रतौंधी दूर हो जाती है। प्याज के रस में शहद डालकर लगाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है और फूला कट जाता है।
  15. यदि दिमाग की कमजोरी से आंखें कमजोर हो गई हो तो रोजाना सुबह जलनेति या उषापान करना चाहिए। आंखों पर तथा मस्तिष्क पर ठंडे जल के छींटे देने चाहिए।  यदि दिमाग की ंंनिर्बलता  के कारण आंखें कमजोर हो गई हो तो जलनेति के साथ-साथ वस्त्रनेती करनी चाहिए। आंख यदि थोड़ी कमजोर हो तो शीर्षासन से भी  लाभ होता है।  शीर्षासन के पश्चात यदि गाय का थोड़ा सा शुद्ध घी गर्म करके नाक द्वारा पी लिया जाए तो आंखों के लिए बहुत लाभकारी होता है। यदि आंखें अधिक कमजोर है तो शीर्षासन नहीं करना चाहिए।
दोस्तों, आशा करता हूं कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी।
धन्यवाद।
लेखक :- बलजीत यादव

10 Comments on “आखों की समस्या और समाधान eye problems and treatment”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *