पेट में बच्चा कैसे बनता है ?जानें पूरा Process.

पेट में बच्चा कैसे बनता है ?जानें पूरा Process.

पेट में बच्चा कैसे बनता है ?जी हां दोस्तों आज के इस post में जानेंगे कि शिशु मां के पेट में कैसे बनता है,

और नों महीने तक पेट में क्या करता है।तो दोस्तों इस post को पढ़ते रहिये

दोस्तों आज के समय में Dilevary, सिजेरियन【ओप्रेसन】से होने का सबसे बड़ा डर बना रहता है।

और इस डर का कारण महिलाएं अच्छे से समझती हैं, कि अपने Life स्टाइल में खान-पान सबसे बड़ा कारण है।

हर मां चाहती है कि उसका बच्चा Normal व स्वस्थ्य हो।और एक मां की सबसे बड़ी जिम्मेदारी उसके पेट में पल रहे शिशु,

Foetus की हर हाल में सुरक्षित रखना होता है।

पेट में बच्चा कैसे बनता है ?जानें पूरा Process.,बच्चा पैदा होने की प्रकिया
पेट में बच्चा कैसे बनता है ?जानें पूरा Process.
पेट में बच्चा कैसे बनता है ?जानें पूरा Process.
पेट में बच्चा कैसे बनता है

तो आइये जानते हैं शिशु का पहले महीने से नों महीने तक का सफर कैसे होता है –

1st Manth:

पहले महीने में दिमाक व तंत्र-तंत्रिका बनने लगते हैं।लिंग का निर्धारण होना प्रारम्भ होने लगता है।नाक,कान, आंख के जगह पर डॉट जैसे निशान बनने लगते हैं।

2nd Manth:

नाल,Naal बनने लगते हैं।नखों व उंगली बनने शुरू हो जाता है।livar, kidny का विकास होना चालू हो जाता है।

तथा दिल लब- डब करने लगता है।इस समय शिशु का वजन लगभग 15-30 ग्राम हो जाता है।

3rd Manth:

इस महीने में शिशु का वजन 190 ग्राम के आस पास हो गया होता है।

पैरों से लात मारने लगता है,उंगीलियां बन जाती है,हाथों से Movment करने लगता है।मुट्ठी बना लेता है।

4rt Manth:

इस महीने में शिशु की धड़कने सुनाई देने लगता है।ताथा लंबाई बढ़ने लगता है,वजन बढ़ जाता है ।

सिर पर बाल दिखाई देने लगते हैं।शिशु में होने वाले हलचल  महशूस होने लगता है।

5th Manth:

हाथ पैरों की Movment को अच्छे से महशूस किया जा सकता है।इस माह शिशु हिलने डुलने लगता है।

नाखून,पलकें बढ़ रहे होते हैं। इससमय वजन 550 ग्राम के आस-पास हो जाता है।

6th Manth:

इस महीने शिशु इतना बड़ा हो जाता है कि हाथ रखने व कान लगाकर सुनने से बच्चे का आभाष होने लगता है।

आँखे बन गय होते हैं व बाहर के आवाज को शिशु महशूस कर सकता है। बाहर का आवाज सुनकर शांत हो जाता है।

7nth Manth:

इस महीने वजन 1500 ग्राम हो जाता है।तथा सोलह इंच लंबा हो जाता है।सोने व जागने का समय निश्चित हो जाता है।

8th Manth:

आंखे खोल लेता है,अंगूठा चूसने लगता है।वजन 2 किलो हो जाता है।

9th Manth:

इस महीने वजन 3 से 3.5 किलो हो जाता है।लंबाई 20 इंच,पैदा होने के बाद कलर बदल सकता है।

इस महीने बच्चा शांत होता है क्योंकि movment के लिए कम स्थान होता है।

इन्हें भी पढें……..पीरियड, Disturb है या न, कैसे पता करें!

6 Comments on “पेट में बच्चा कैसे बनता है ?जानें पूरा Process.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *