यौन शोषण ( Sexual Harassment )

यौन शोषण ( Sexual Harassment )

यौन शोषण : आपकी मर्ज़ी के बिना घूरना, छूना या छेड़ना यौन शोषण कहलाता है |

सुनने में ये दो शब्द (यौन शोषण) महज़ एक सामाजिक समस्या को दर्शातें हैं पर इनका असर एक एक मनुष्य पर कितना गहरा पड़ता है कि आप इसका अनुमान भी नहीं लगा सकते |

हम रोज़ एक सामाजिक समस्या को सुनते हैं फिर किसी को उसुके लिए दोषी ठाहराकर भूल जातें हैं और फिर अपनी  ज़िन्दगी में व्यस्त हो जाते हैं | पर वह समस्या वही की वही रहती है उसका कोई समाधान नहीं निकलता | यह एक ऐसी समस्या है जिसके लिए समाज का हर इंसान ज़िम्मेदार है.  आपको ये जानकार हैरानी होगी की हर 10 में से 7-8 लडकियां कभी न कभी, कहीं न कहीं यौन शोषण का शिकार हुई है |

जब किसी लड़की के साथ यौन शोषण होता है तो वह पीड़ा उसके मन में घर कर जाती है और फिर वह एक धारणा बन जाती है हर एक लड़के के लिए | कई लडकियां तो अपने जीवन में कभी नार्मल ही नहीं हो पाती | वह हर पास आने वाले लड़के पर शक करती है यहाँ तक की वह अपनी प्रेमी या पति के साथ शारीरिक समभंध बनाने से भी डरती है

15 अक्तूबर 2017 के दिन, यौन शोषण के खिलाफ हॉलीवुड़ एक्ट्रेस अलिसा मिलानो ने twitter पर #MeToo नाम से एक अभियान चलाया और हर लड़की से अपनी आवाज़ बुलंद करने के लिए और अपनी अनुभव share करने  के लिए प्रोत्साहित किया यदि वह अपने जीवन में कभी यौन शोषण का शिकार रही है

उसमें अलग अलग लड़कियों ने अपनी कहानी share की.  किसी के साथ उनके पड़ोस के अंकल ने, किसी के साथ उनके टीचर ने, किस के साथ राह चलते लड़के ने , किसी के साथ सरफिरे आशिक ने, किसी के साथ घर पर रुके मेहमान ने तो किसी के साथ रिश्तेदार ने और ना जाने किस किस ने, जिसे सुनकर आपको विश्वास भी नहीं होगा | इन सभी लोगों ने उन लड़कियों का यौन शोषण किया और हर लड़की को यह कहकर चुप कर दिया जाता है को ये बात किसी से मत कहना, लोग तुझे ही गन्दा समझेंगे और बोलेंगे.  और इस तरह हमारे आस पास यौन शोषण होता है और हम इसे अन्देखा या अपनी आँखें मूँद कर रहते हैं

यौन शोषण एक ऐसा कारण है, जिसकी वजह से माँ बाप घर की लड़कियों को स्कूल नहीं भेजते, नौकरी नहीं करने देते, यहाँ तक की लड्कियों को पैदा करने से भी कतराते हैं क्योंकि अपनी बच्ची को समाज से सुरक्षित रखना नामुमकिन होता जा रहा है जिसका कारण है की समाज में असुरक्षा का स्तर बहुत अधिक बढना.

यह बात सुनने में अजीब लगेगी की हमारे देश की उन्नति में यौन शोषण एक बहुत बड़ी रुकावट है|  दोंस्तों याद रखो  जब तक हमारे समाज में लडको और लड़कियों में समान ताकत नहीं होगी तब तक हम विकसित नहीं हो सकते | सोचिये अगर आधा देश अनपड़, असुरक्षित और कमज़ोर होगा तो देश कैसे आगे बढेगा. देश तभी आगे बढेगा जब देश का हर नागरिक सुरक्षित महसूस करे| यक़ीनन अगर देश आगे नहीं बढेगा तो देश में गरीबी और बेरोज़गारी बढेगी और जिसका असर हमारी निजी ज़िन्दगी पर भी पड़ेगा.

मैं सभी लडको से पूछना चाहूंगा, क्या आप ऐसे समाज में जी सकते हैं जहाँ हर कोई आपको हर समय घूर कर देखे, आपकी मर्ज़ी के बिना आपको छुए, आपको छेड़े और आप जहाँ भी जाएं हर जगह असुरक्षित महसूस करें, की कोई आपका rape(बलात्कार) ना कर दे. तो आपको जवाब है “नहीं”, बस यही बात हमें समझने की ज़रुरत है की इस धरती पर सबको एक समान जीने का अधिकार है |

यौन शोषण के कारण:

  • इसका सबसे बड़ा कारण है Moral Education की कमी, जिसकी शुरुआत घर से होती है. हर घर में लड़के और लड़की का पालन पोषण एक ही तरीके से होना चाहिए | अगर घर में लडको को अधिक विशेष समझा जायेगा तो हर लड़का अपने को लड़की से ऊपर ही मानेगा और उसका शोषण करेगा

  • लड़के और लड्कियो में अत्यधिक दूरी बनाये रखना भी एक बहुत बड़ा कारण है. लड़के और लड्कियों में दूरी और उनके विचारों का आदान प्रदान ना होना Opposite Sex Attraction को बढाता है | बाद में यह Frustration(कुंठा) के रूप में उभर कर आता है|
  • तीसरा एक मुख्य कारण यह भी है की लड़के बिना समझे ही धारणा बना लेते है को अगर कोई लड़की सिगरेट या शराब पीती है तो वह शारीरिक समभंध बनाने की इच्छुक है. ऐसा सोचना मूर्खता है

यौन शोषण का समाज पर असर:

  • यौन शोषण के कारण office culture ख़राब हो रहा है और इस कारण लडकियां काम करने से कतराती है|
  • परोक्ष रूप से (Indirectly) यह एक बड़ा कारण है लड़के और लड्कियों के खराब अनुपात होने का|
  • लड़कियों के स्कूल ना जाने के कारण लडकियां अशिक्षित हैं और लड़कियों के अशिक्षित होने के कारण देश की आधे से ज्यादा आबादी अशिक्षित है |
  • देश की लगभग हर माँ और बहन यौन शोषण की पीड़ा से गुजरी है और वह इस कारण घर के हर सदस्य हो यह समझती है को दुनिया बहुत ख़राब है
  • इस तरह घर का हर सदस्य इसी सोच के साथ बडा हो रहा है की दुनिया बहुत खराब है. शायद इसलिए हम एक दुसरे पर विश्वास नहीं करते |
  • यौन शोषण का असर इतनी जगह है को आप इसका अंदाजा भी नहीं लगा सकते |

यौन शोषण को मिटाने के लिए क्या करें :

  • सभी लडकियाँ यौन शोषण के खिलाफ बोलें और दूसरों को इसके लिए प्रोत्साहित करें. ना खुद चुप रहे ना किसी पीड़ित को चुप रहने दें|
  • कोई भी अपने आस पास हो रहे यौन शोषण को नज़रंदाज़ ना करें |
  • ऐसे ग्रुप्स से दूर रहे जो हमेशा गन्दी (sex related ) बातें करते हैं |
  • अपनी feelings को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ share करें |
  • अपने सड़े पुराने विचारों को बदलें और समय की मांग को समझे और नारी का सम्मान करें |

सन्देश:

समाज को शुद्ध रखना हमारी नैतिक जिम्मेदारी है क्योंकि कल को हमारे अपने ही बच्चे इसी समाज में जियेंगे|

शारीरिक सम्बन्ध बनाना गलत नहीं पर किसी की मर्ज़ी के बिना बनाना अपराध है. अगर कोई शारीरिक सम्बन्ध बनाने को मना करता है तो समझें इसका मतलब है “नहीं”. फिर चाहे वो आपकी बीवी हो, कोई sex worker हो या चाहे वो कोई भी हो. “नहीं” मतलब “नहीं”

लड़कियों को ताकत दे.  क्यूंकि अगर आप इंसान और शेर को एक जगह जिंदा रखना चाहते है तो आप बन्दूक इंसान के हाथ में ही देंगे|

अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो आप इंसान को शेर से नहीं बचा सकते क्योंकि इंसान शारीरिक रूप से शेर से कमज़ोर होता है और यह सचाई है|

दोस्तों समाज हमारी सोच का आइना है|  जैसे हमारे विचार होंगे वैसे ही विचार समाज में फैलेंगे और फिर समाज वैसा ही बनेगा. हमें अपने विचारों को ऐसा बनाना होगा की यौन शोषण जैसी कुरीति जड़ से ख़त्म हो जाए.

https://youtu.be/fBgh_pSyL1I

8 Comments on “यौन शोषण ( Sexual Harassment )”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *